जिले में निर्बाध रूप से की जाए विद्युत आपूर्ति : सीडीओ

फतेहपुर। विकास भवन परिसर में गुरूवार को जनपद स्तरीय खरीफ गोष्ठी एवं तिलहन मेला का आयोजन मुख्य विकास अधिकारी सत्य प्रकाश की अध्यक्षता में किया गया। सीडीओ ने दीप प्रज्जवलन कर गोष्ठी/मेला का शुभारंभ किया। मेले में कृषि, उद्यान, खादी ग्रामोद्योग, बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार, पशुपालन, इफको, मिश्रा बीज भंडार, मत्स्य, रेशम, पीजीएस प्रमाणित जैविक उत्पाद, मृदा परीक्षण, प्रधानमंत्री फसल बीमा, दिव्यांगजन सशक्तीकरण आदि विभागों ने स्टाल लगाए। जिनका निरीक्षण किया गया। सीडीओ ने खरीफ के लिए की गई तैयारी की समीक्षा के साथ ही जनपद के किसानों से फीडबैक भी लिया।
सीडीओ ने गोष्ठी में आए लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि जनपद स्तरीय खरीफ गोष्ठी का मुख्य उद्देश्य किसानों के सुझाव एवं उनकी समस्याओं को सुनकर उनका समाधान करना है। खरीफ हेतु आवश्यक निवेश, बीज, उर्वरक आदि की पर्याप्त उपलब्धता किसानों के पास समय से पहुॅंच जाए। उन्होने कहा कि वर्तमान में धान की रोपाई का कार्य चल रहा है, जिसको दृष्टिगत रखते हुए निर्बाध रूप से विद्युत आपूर्ति की जाए। उन्होंने कहा कि दलहनी एवं तिलहनी फसलों की खेती को बढावा दिए जाने की आवश्यकता है। सीडीओ ने किसानों की समस्याओं को सुना और प्राप्त शिकायतों का ससमय निरस्तारण करने हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। गोष्ठी के प्रारंभ में कृषि वैज्ञानिकों एवं प्रगतिशील किसानों द्वारा वैज्ञानिक खेती किए जाने के संबंध में किसानों को जानकारी दी। वैज्ञानिकों ने कम लागत में अधिक उत्पादन किए जाने के उपायों के बारे में विस्तार से कृषकों को जानकारी दी। कृषकों को फसल चक्र अपनाने, बीज शोधन, प्राकृतिक खेती, मिट्टी की उर्वरा शक्ति बढाने सहित अन्य तकनीकी के बारे में विस्तार से जानकरी दी। गौ आधारित प्राकृतिक खेती के अन्तर्गत एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्य वक्ता डा0 विनोद कुमार सचान ने विस्तृत रूप से जानकारी उपलब्ध कराई। गोष्ठी में कृषकों को कृषि की उन्नत तकनीकी एवं विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी प्रदान की गई। उप कृषि निदेशक ने किसानों से फसल का बीमा अनिवार्य रूप से कराने की बात कही। कृषि विज्ञान केन्द्र थरियॉंव के वैज्ञानिक डा. जगदीश किशोर ने किसानों को नवीनतम फसल तकनीकी, फसल सुरक्षा, कम लागत में अधिक आय प्राप्त करने एवं फसल सुरक्षा के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी। खरीफ वर्ष 2021 में धान की फसल में हुई क्षति हेतु जनपद के सर्वाधित क्षतिपूर्ति राशि पाने वाले पॉंच बीमित कृषक रामप्रताप, को 61670 रूपए, शिव प्रताप को 54534 रूपए, सुरेन्द्र को 53256 रूपए, राजेन्द्र प्रसाद को 52841 रूपए एवं रामसजीवन को 53405 रूपए का सीडीओ ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर खरीफ गोष्ठी/तिलहन मेला में कृषि विभाग एवं कृषि से संबद्ध विभिन्न विभागों के अधिकारी, कर्मचारी एवं बड़ी संख्या में प्रगतिशील किसानों ने भाग लिया।

0Shares
Previous post उम्मीद देवारा के विकास की सेतु बनेंगे सांसद निरहुआ!
Next post परिवार ट्रस्ट ने अल्पसंख्यक आयोग की सदस्य का किया स्वागत

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Our Visitor

0 1 4 0 6 7
Users Today : 80
Users Yesterday : 61
Users Last 7 days : 210
Users Last 30 days : 679
Users This Month : 421
Total Users : 14067
Views Today : 92
Views Yesterday : 95
Views Last 7 days : 299
Views This Month : 596