Breaking News

आजमगढ़ में बाइक और कार में भीषण टक्कर

आजमगढ़ |:-  निज़ामाबाद थाना छेत्र के फ़रीदाबाद मे बलिया लखनऊ मार्ग पर 10 मार्च शाम लगभग तीन बजे बाइक सवार 22वर्षी सलीम पुत्र स्वर्गीय मुश्ताक़ फरिहा निज़ामाबाद निवासी का स्विफ़्ट कार वाहन से दुर्घटना हो गई थी जिस मे सलीम बुरी तरह से घायल हो गया जिस को अचेत अवस्था मे आज़मगढ़ ज़िला अस्पताल मे भर्ती कराया गया दोनों हाथ की हड्डी टूट गई है और रीढ़ की हड्डी भी टूटने य डैमेज होने की बात सामने आ रही है आज सलीम अचेज अवस्था से बाहर निकला तो पुरी बात अपनी माँ रफ़ीकुन्निशा उर्फ़ मोटक से बताया की अफ़्तारी की दावत खाने मे शामिल बस्ती गांव थाना सरायमीर अपने खाल के यहाँ जाने के लिये घर से निकला था फ़रीदाबाद पहुँचा था की मेरे छोटे नाना वकील का नाती फरहान पुत्र इमरान हाल मुक़ाम फरिहा व आबाद पुत्र शमशाद फरिहा पहले से घात लगाये चार पहिया गाड़ी से खड़े थे मेरी बुलेट बाइक मे ज़ोरदार तीन बार टक्कर मारी जिस के कारण मैं ज़मीन पर गिरा बेहोश हो गया मुझ को मरा समझ अपनी गाड़ी छोड़ दोनो भाग गये इधर थाने पर तहरीर देने पीड़ित की माँ रफ़ीकुन्निशा पत्नी सवर्गीय मुश्ताक़ पहुँची और सदर अस्पताल का मेडिकल रिपोर्ट व अपने तहरीर लिख कर थाने पर दिया कि मेरे बेटा एक माह पूर्व बुलेट बाइक लिया था आये दिन फरहान पुत्र इमरान मेरे बेटे से बुलेट चलाने के लिये माँगता था लेकिन मेरा बेटा देने से बार बार इनकार करता रहा तब कई बार बोला कि चलो ठीक है न तुम रहो गे न ही बुलेट रहेगी हम सब मज़ाक़ समझ रहे थे वह प्लान बना कर मेरे इकलोते बेटे की हत्या करने का कोशिश किया लेकिन अपने मंसूबे नाकाम रहा हम लोगों ने सदरअस्पताल ले गये जहाँ पर डाक्टरों ने देखा की दोनो हाथ कई जगह टूटा है और रीढ़ की हड्डी मे भी गंभीर चोट है सदरअस्पताल के डाक्टरों ने ट्रामा सेंटर अस्पताल के लिये रिफ़र कर दिया है आज़मगढ़ शहर मे शिवम् अस्पताल मे ICU मे मेरा बेटा ज़िंदगी मोत से जूझ रहा है थाने पर न्याय के लिये आई हूँ मुझ को विश्वास है की हम को न्याय मिले गा

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.