सुल्तीतानपुर जिले में तीन दिवसीय विशेष प्रशिक्षण की हुई शुरुआत 

 सुल्तीतानपुर जिले में तीन दिवसीय विशेष प्रशिक्षण की हुई शुरुआत 
सुल्तानपुर
 शुरुआत आज दिनांक 11/10/2021 को जिला शिक्षा प्रशिक्षण संस्थान सुल्तानपुर में आउट ऑफ स्कूल बच्चों के लिए ब्लॉक स्तरीय मास्टर ट्रेनर के प्रशिक्षण की शुरुआत हुई जिसमें राज्य शिक्षा संस्थान प्रयागराज उ0प्र0 द्वारा प्रशिक्षक राम सिंह,चंद्रपाल राजभर,नीतीश पांडे,फिरोज खान,विनय अग्रहरी,तथा विशेष आमंत्रित प्रशिक्षक SRG सुल्तानपुर सुनील सिंह सत्यदेव पाण्डेय ने आउट आॅफ स्कूल बच्चों के बारे में अपने विचार व्यक्त किए प्रशिक्षण की शुरुआत डायट प्राचार्य से धर्मेंद्र कुमार ने माँ सरस्वती के प्रतिमा पर पुष्पअर्पित करते हुए किया तत्पश्चात माँ सरस्वती की वंदना शुरू की गई प्रशिक्षण में नगर क्षेत्र सहित15 ब्लॉकों के कुल 30 प्रशिक्षु मास्टर ट्रेनर्स प्रशिक्षण ले रहे हैं जोकि अपने ब्लॉकों में जाकर नामित नोडल शिक्षकों को प्रशिक्षित करेंगे प्रशिक्षण 3 दिनों का है 6 वर्ष के ऊपर 14 वर्ष ऐसे ऐसे बच्चे जो विद्यालय में नामांकित नहीं हैं या नामांकन के बाद स्कूल छोड़ दिया है उन्हें एक संघनित पाठ्यक्रम हिंदी,गणित,अंग्रेजी,पर्यावरण के माध्यम से विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा आयु वर्ग के अनुसार उन्हें कक्षा 1 से 8 तक के स्कूलों में नामांकित किया जाना है
सुल्तानपुर
 शुरुआत आज दिनांक 11/10/2021 को जिला शिक्षा प्रशिक्षण संस्थान सुल्तानपुर में आउट ऑफ स्कूल बच्चों के लिए ब्लॉक स्तरीय मास्टर ट्रेनर के प्रशिक्षण की शुरुआत हुई जिसमें राज्य शिक्षा संस्थान प्रयागराज उ0प्र0 द्वारा प्रशिक्षक राम सिंह,चंद्रपाल राजभर,नीतीश पांडे,फिरोज खान,विनय अग्रहरी,तथा विशेष आमंत्रित प्रशिक्षक SRG सुल्तानपुर सुनील सिंह सत्यदेव पाण्डेय ने आउट आॅफ स्कूल बच्चों के बारे में अपने विचार व्यक्त किए प्रशिक्षण की शुरुआत डायट प्राचार्य से धर्मेंद्र कुमार ने माँ सरस्वती के प्रतिमा पर पुष्पअर्पित करते हुए किया तत्पश्चात माँ सरस्वती की वंदना शुरू की गई प्रशिक्षण में नगर क्षेत्र सहित15 ब्लॉकों के कुल 30 प्रशिक्षु मास्टर ट्रेनर्स प्रशिक्षण ले रहे हैं जोकि अपने ब्लॉकों में जाकर नामित नोडल शिक्षकों को प्रशिक्षित करेंगे प्रशिक्षण 3 दिनों का है 6 वर्ष के ऊपर 14 वर्ष ऐसे ऐसे बच्चे जो विद्यालय में नामांकित नहीं हैं या नामांकन के बाद स्कूल छोड़ दिया है उन्हें एक संघनित पाठ्यक्रम हिंदी,गणित,अंग्रेजी,पर्यावरण के माध्यम से विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा आयु वर्ग के अनुसार उन्हें कक्षा 1 से 8 तक के स्कूलों में नामांकित किया जाना है
0Shares
Previous post नवरात्रि में धार्मिक कार्यक्रम के नाम पर हो रहा फिल्मी गानों पर डांस
Next post अधिकारों में कटौती पर प्रधानों ने प्रदेश सरकार को घेरा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *