प्रधानी के चुनाव में वोट देने से किया मना तो दबंगों पीट – पीटकर ले लिया जान

खबरदार अगर किसी ने अगर किसी को वोट देने से मना किया तो उसको खतरनाक अंजाम भुगतना पडा सकता है ..जी हाँ आपने सही सुना . ऐसा ही हुआ जब एक ग्रामीण ने पंचायत चुनाव में समर्थन करने और वोट देने से मना किया तो दबंगों ने उस व्यक्ति की पीट – पीटकर हत्या कर दी .

ये घटना अलीगढ़ के थाना छर्रा क्षेत्र के गांव रुमामई की है । ग्रामीणों और परिजनों के मुताबिक एक प्रत्याशी के समर्थकों ने दबंगई दिखाते हुए ग्रामीण युवक पर अपने पक्ष में प्रचार प्रसार करते हुए वोट डलवाने का दबाव बनाया। जिसका विरोध करने पर उसके साथ बेरहमी से मारपीट की गई । युवक की इलाज के दौरान जेएन मेडिकल कॉलेज में मौत हो गयी ! इस घटना के कारण ग्रामीणों में आक्रोश पनप उठा और शव को लेकर थाने पर पहुंच गए। हंगामे को बढ़ते देख पुलिस व आला अधिकारियों ने दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही का आश्वासन देकर परिजनों व ग्रामीणों को शांत कराया है।

ग्रामीणों के मुताबिक़ बीते 29 मार्च को दबंग प्रत्याशी के समर्थकों ने अपने पक्ष के प्रधान प्रत्याशी के समर्थन में प्रचार-प्रसार करने को लेकर 38 वर्षीय मोहनलाल पर ग्रामीणों के वोट डलवाने का दबाव बनाया , उसे धमकाने लगे और जब उसने विरोध किया तो दबंगों ने लाठी डंडों से जमकर मोहनलाल की पिटाई कर डाली और मौके पर मरणावस्था में छोड़कर फरार हो गए। जिसे गम्भीर हालत में ग्रामीणों व पुलिस की मदद से जेएन मेडिकल कॉलेज में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था।

करीब 8 दिन जिंदगी और मौत से जूझने के बाद देर रात युवक की इलाज के दौरान मौत हो गई। दूसरी ओर परिजनों के द्वारा पुलिस पर कार्यवाही न करने का आरोप लगा है। वहीं 29 मार्च की घटना के बाद से अभी तक पुलिस के द्वारा घायल का कोई बयान भी दर्ज नहीं किया गया था।
देर रात मौत की सूचना पर ग्रामीणों ने थाने को घेर लिया और जमकर तांडव करते हुए पुलिस की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए। वहीं मौके पर पहुचीं अन्य थानों की पुलिस के द्वारा ग्रामीणों को समझा बुझाकर गांव भेजा गया और शव को पोर्स्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। मौके पर पहुचीं क्षेत्राधिकारी के द्वारा जानकारी देते हुए बताया गया, गांव में दो पक्षों में विवाद हो गया था।

जिसके बाद एक व्यक्ति के चोट आने पर उसको अस्पताल में भर्ती करा दिया गया। साथ ही पीड़ित की तरफ से 29 मार्च को थाने पर मुकदमा भी दर्ज करा दिया गया। वहीं देर रात घायल की मौत होने के बाद उसका पोर्स्टमार्टम करवाकर शव को परिजनों को सौंप दिया है। साथ ही मुकदमे में हत्या की धराओं की बढ़ोत्तरी की जाएगी। पुलिस कर्मियों की भूमिका पर उठे सवालों की जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

0Shares
Total Page Visits: - Today Page Visits:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *