आज़मगढ़ के मुबारकपुर में दुनिया के मशहूर शायर फैज़ अहमद फैज़ की याद में शानदार कार्यक्रम

खबर आज़मगढ़ ज़िले के मुबारकपुर से है जहाँ पर उर्दू के प्रसिद्ध कवि फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ के जन्मदिवस के मौके पर मुबारकपुर गर्ल्स डिग्री कॉलेज में ,जश्ने फैज़, का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य अतिथि दैनिक इंकलाब उर्दू , पटना के रिज़िडेंट एडिटर अहमद जावेद रहे कार्यक्रम की अध्यक्षता कारी सगीर अहमद ने और संचालन आमिर फहीम ने किया, कार्यक्रम में स्कूल की छात्राओं ने फैज़ अहमद फ़ैज़ की नज़्म और गज़ल पेश किया। इस मौके पर अहमद जावेद ने संबोधित करते हुए कहा कि फैज़ अहमद फैज़  की ताकत उनकी रचनाएं हैं, जो इंकलाब के लिए प्रयासरत आवाम की ताकत बन कर आज भी साथ हैं। उनकी रचनाएं  इश्क  की भाषा में जनविरोधी राज व्यवस्था से जिरह करते हुए इंकलाब की बातें करती हैं। फैज़  की रचनाएं किसी भी तरह के अन्याय का प्रतिकार करते हुए आज भी प्रासंगिक हैं।
 उन्होंने यह भी कहा कि फैज़ साहब अपने विचारों एवं वसूलों को लेकर सख्त थे और उनकी रचनाएं हमें समाजवाद की ओर प्रेरित करती हैं। फैज़  ने आवाम की भाषा में रचनाएं लिखी और इंकलाब के लिए उन प्रतीकों का इस्तेमाल किया, जिन्हें आवाम आसानी से समझ सकती हैं।
वहीँ मुबारकपुर गर्ल्स डिग्री कालेज के मैनेजर डाक्टर शमीम अहमद अंसारी ने मीडिया से वार्ता में कहा कि उर्दू अदब के सबसे बड़े शायर थे , जैसे ग़ालिब, इकबाल, मीर आदि बड़े शायर थे, लेकिन जो एक बहुत बड़ा मकसद जो हमेशा रहने वाली चीज फ़ैज़ ने दिया है , `लाज़िम है कि हम भी देखेंगे ‘  डॉक्टर शमीम ने हुक्मरानों पर तंज कसते हुए कहा कि जो हमारा सियासतदां जो हुक्मरां होता है हमेशा वह यह समझता है कि वह अल्लाह हो गया है या अल्लाह से थोड़ा छोटा अपने को समझता है उससे हमको लड़ना है जनता हमेशा लड़ी है और आगे भी लड़ना है और फ़ैज़ हमेशा एक ताकत देता रहेगा।
इस अवसर पर  मौलाना इनामुर्रहमान, डॉक्टर जावेद कमर, सलमान अहमद, जमाल अशरफ, कमाल अख्तर , नसरीन जोहरा, नाज़िया एरम, उज़मा एरम समेत स्कूल की छात्राएं मौजूद रहीं।
0Shares
Total Page Visits: 103 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *