सावन के अन्तिम सोमवार को कांवरियों ने किया जलाभिषेक

ताम्बेश्वर मंदिर में दर्शन के लिए भक्तों की लगी लाइन व प्रसाद वितरित करते भक्त
फतेहपुर । सावन माह के चौथे सोमवार को जिले भर के शिवमंदिर भक्तों से गुलजार रहे। शहर के शिवालयों को दुल्हन की तरह सजाया और सवांरा गया था। सुबह-शाम दोनो पहर जयकारों की गूंज से आसपास का वातावरण गुंजायमान रहा। पूजा अर्चना का दौर चलता रहा।
सावन माह के सभी सोमवारों को शिवलयों में भगवान शिव की पूजा अर्चना के लिए साज सज्जा का काम तो पहले से ही पूरा कर लिया गया था। चौथे सोमवार को होने वाली पूजा अर्चना के लिए उसे और भव्यता प्रदान करने के लिए रविवार को अन्तिम रूप दिया गया। सुबह भोर से ही भगवान शंकर की पूजा अर्चना व दर्शन का दौर प्रारम्भ हो गया। जिसके लिए रात से ही भक्तो की लाइन लग गयी। भोर में सबसे पहले कांवरियों द्वारा गंगा से लाये गये जल से जलाभिषेक किया गया। इसके साथ पूजा-अर्चना का सिलसिला प्रारम्भ हो गया। जिसमें बेलपत्र, फूल, धतूरा, दूध-दही समेत पूजा में लगने वाली अन्य सामग्री के साथ भगवान शिव की पूजा अर्चना में लगने वाली अन्य सामग्री की दुकानों में भक्तो की भारी भीड़ रही। मेला जैसा माहौल रहा। ताम्बेश्वर मंदिर के अलावा कृष्ण विहारी नगर स्थित मोटे महादेवन, मसवानी स्थित कालिकन मंदिर, शीतला मन्दिर आदि मंदिरों में भोले शंकर की पूजा अर्चना का सिलसिला सुबह से शाम तक जारी रहा। मसवानी मोहल्ला के युवा कमेटी द्वारा कावरियों का जत्था ओम घाट के लिए रवाना हुआ जो भोर पहर नाचते गाते जयकारों के बीच कांविरियों का जत्था जलाभिषेक लेकर तांबेश्वर मंदिर मे जलभिषेक किया। सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर प्रमुख मंदिरों के बाहर पुलिस बल भी तैनात रहा। साथ ही नगर में जगह-जगह भण्डारे का आयोजन किया गया।

0Shares
Total Page Visits: 1160 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *