समाज व इंसानियत का सबसे बड़ा दहशतगर्द है वसीम रिजवी-कारी फरीद

फिल्म में फौरी तौर पर पाबंदी लगाने की मांग
 काजी-ए-शहर कारी फरीद उद्दीन
फतेहपुर। शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी के जरिये सारे मुसलमानों की मां व हजरत मोहम्मद स0अ0 की चहीती पत्नी हजरत आएशा सिद्दीका की जात पर बनाई गयी फिल्म को लेकर सुन्नी काजी-ए-शहर मौलाना कारी फरीद उद्दीन कादरी ने कड़े शब्दों में निन्दा करते हुए कहा कि वसीम रिजवी मुल्क, समाज व इंसानियत का सबसे बड़ा दहशतगर्द है। जिसकी वजह से पूरे हिन्दुस्तान का अम्नो अमान खतरे में हैं। इस फिल्म पर फौरी तौर पर पाबंदी लगाई जाये।
काजी-ए-शहर मौलाना कारी फरीद उद्दीन कादरी ने कहा कि वसीम रिजवी हजरते आएशा सिद्दीका के नाम पर फिल्म बनाकर मुल्क की एकता व भाईचारा को नफरत की आग में झोंकना चाहता है। लिहाजा मजहबी पेशवाओं व मोकद्दस शख्सियत के तौहीन करने वाले गुनेहगारों के खिलाफ मुल्क के हर इंसाफ पसंद शख्स का मुत्तहीद होना जरूरी है। वरना जो लोग मजहबी रहनुमाओं का एहतराम नहीं कर सकते वह मुल्क के लोगों और वतने अवीज का एहतराम कैसे करेंगे। ऐसे लोग मुल्क के दुश्मन हैं। जो महजबी जज्बात भड़ाकर प्यारे वतन हिन्दुस्तान को तखसीम करना चाहते हैं। उन्होने कहा कि अगर वसीम रिजवी की इस फिल्म पर पाबंदी नहीं लगाई जाती तो मुल्क के भाईचारा और इंसानी समाज के लिए बहुत ही गलत होगा। क्योंकि मुल्क का मुसलमान जिस तरह वतने अजीज की खातिर अपनी जान की कुर्बानी देने के लिए तैयार रहता है। इससे कई गुना ज्यादा अपने नबी और सारे मुसलमानों की मां हजरते आएशा सिद्दीका पर अपना सब कुछ कुर्बान करने को तैयार है। इसलिए रेयासती हुकूमत के वजीरे आला योगी व मुल्क के वजीरे आजम नरेन्द्र मोदी से मांग करते हैं कि उम्मुल मोमेनीन हजरत आएशा सिद्दीका के नाम पर फिल्म बनाने वाले वसीम रिजवी के खिलाफ सख्त सजा का एलान करके और फिल्म पर पाबंदी लगा कर मुसलमानों के मजहबी जजबात का पूरा-पूरा ख्याल रखा जाये।

0Shares
Total Page Visits: 645 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *