शिक्षक दिवस पर आयोजित संगोष्ठियों में गुरूजी सम्मानित

राज्यपाल से पुरस्कृत आसिया फारूकी को सम्मानित करते पदाधिकारी
फतेहपुर। प्राथमिक शिक्षक संघ नगर इकाई तथा अन्य संस्थानों द्वारा शिक्षक दिवस के मौके पर अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित किये गये। संगोष्ठियों में जहां शिक्षा के क्षेत्र में गुरूओं के महत्व को रेखांकित किया गया। वहीं सेवानिवृत्त शिक्षकों के साथ ही राज्यपाल पुरस्कार से सम्मानित आसिया फारूकी को भी सम्मानित किया गया।
गुरूवार को शिक्षक दिवस के मौके पर प्राथमिक शिक्षक संघ के बैनर तले शिक्षक सम्मान समारोह एवं शैक्षिक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता इकाई के नगर अध्यक्ष धर्मेन्द्र कुमार ने की। समारोह में सेवानिवृत्त अध्यापक राम बाबू त्रिपाठी, राजकुमारी शरन, शीला श्रीवास्तव का माल्यार्पण, बैज अलंकरण एवं शाल भेंटकर सम्मान किया गया। सम्मान पाने वाले सेवानिवृत्त प्रधानाध्यापक राम बाबू त्रिपाठी ने कहा कि प्राथमिक शिक्षा में अनुभव, समर्पण एवं सतत परिश्रम की जरूरत है। अभिनव प्रयोग, नवाचार एवं पर्यावरण से जोड़कर विषयवस्तु का शिक्षण किया जाये। समारोह में राज्यपाल पुरस्कार पाने वाली शिक्षिका आसिया फारूकी का भी बैज, माला, शाल प्रदान कर उन्हें सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि नाहित इकबाल फारूकी ने पूर्ण निष्ठा एवं समर्पित भाव से शिक्षण कार्य करने की सीख दी। इस मौके पर राम मिलन सिंह, महेश चन्द्र जायसवाल, राजेश त्रिपाठी, हेमन्त त्रिपाठी, मुक्तिनारायण सिंह, शुभांगी पाण्डेय, गौरी सिंह, रश्मि त्रिपाठी, सैय्यद ओसामा, चन्द्र प्रकाश शुक्ल, नगमा परवीन, मोनिका मिश्रा, पूनम अवस्थी, रूबीना सुम्बुल सहित बड़ी संख्या में शिक्षक व शिक्षिकाएं मौजूद रहीं। इसी क्रम में जीत वेलफेयर फाउण्डेशन एवं ममता फाउण्डेशन ने भी शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन राधानगर स्थित एक मैरिज लान में किया। जिसमें जिले के अधिकतर विद्यालयों, कोचिंग संस्थानों तथा शिक्षकों को सम्मान स्वरूप पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। शिक्षकों से आग्रह किया गया कि यदि शिक्षक चाह ले तो बच्चों में समाज के प्रति जागरूकता लायी जा सकती है। वक्ताओं ने कहा कि समाज को अच्छा बनाने और सुधारने में शिक्षक की भूमिका महत्वपूर्ण होती है। क्योंकि शिक्षक समाज में रीढ़ की हड्डी के समान है। इस मौके पर डा0 राजकुमार तिवारी, जितेन्द्र सविता, अरविन्द मौर्य, हिमांशु कुमार, सौरभ अग्रहरि, नितेश श्रीवास्तव, अमन, दिनकर अवस्थी, कृष्ण कुमार, रीता मौर्य, नीलम, गरिमा श्रीवास्तव आदि मौजूद रहीं।

0Shares
Total Page Visits: 641 - Today Page Visits: 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *