शासन द्वारा वित्तीय वर्ष 2020-21 में आवंटित 15वें वित्त आयोग के अन्तर्गत नगर पालिका/नगर पंचायतों के कार्ययोजना के चयन के सम्बन्ध में बैठक सम्पन्न हुई

आजमगढ़ 02 जुलाई– जिलाधिकारी राजेश कुमार की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में शासन द्वारा वित्तीय वर्ष 2020-21 में आवंटित 15वें वित्त आयोग के अन्तर्गत जनपद की नगर पालिका/नगर पंचायतों के कार्ययोजना के चयन के सम्बन्ध में बैठक सम्पन्न हुई।
इस अवसर पर ईओ नगर पालिका आजमगढ़ द्वारा आवंटित धनराशि के सापेक्ष प्रस्तावित कार्याें की अनुमानित लागत रू0 276.32 लाख, ईओ मुबारकपुर द्वारा प्रस्तावित कार्याें की अनुमानित लागत रू0 251.96 लाख, ईओ नगर पंचायत अतरौलिया द्वारा प्रस्तावित कार्याें की अनुमानित लागत रू0 22.73 लाख, ईओ नगर पंचायत महराजगंज द्वारा प्रस्तावित कार्याें की अनुमानित लागत रू0 18.59 लाख, ईओ नगर पंचायत बिलरियागंज द्वारा प्रस्तावित कार्याें की अनुमानित लागत रू0 33.98 लाख, ईओ नगर पंचायत जीयनपुर द्वारा प्रस्तावित कार्याें की अनुमानित लागत रू0 29.93 लाख, ईओ नगर पंचायत अजमतगढ़ द्वारा प्रस्तावित कार्याें की अनुमानित लागत रू0 39.88 लाख, ईओ नगर पंचायत निजामाबाद द्वारा प्रस्तावित कार्याें की अनुमानित लागत रू0 32.99 लाख, ईओ नगर पंचायत सरायमीर द्वारा प्रस्तावित कार्याें की अनुमानित लागत रू0 51.48 लाख, ईओ नगर पंचायत फूलपुर द्वारा प्रस्तावित कार्याें की अनुमानित लागत रू0 24.81 लाख, ईओ नगर पंचायत माहूल द्वारा प्रस्तावित कार्याें की अनुमानित लागत रू0   29.84 लाख, ईओ नगर पंचायत कटघर लालगंज द्वारा प्रस्तावित कार्याें की अनुमानित लागत रू0 34.84 लाख, ईओ नगर पंचायत मेंहनगर द्वारा प्रस्तावित कार्याें की अनुमानित लागत रू0 38.32 लाख, ईओ नगर पंचायत जहानागंज बाजार द्वारा प्रस्तावित कार्याें की अनुमानित लागत रू0 68.75 तथा ईओ नगर पंचायत बूढ़नपुर द्वारा प्रस्तावित कार्याें की अनुमानित लागत रू0 52.10 लाख के कार्य कराये जाने के लिए प्रस्तुत किये गये।
जिस पर जिलाधिकारी ने ईओ नगर पंचायत अतरौलिया, बिलरियागंज, जीयनपुर, अजमतगढ़, निजामाबाद, सरायमीर, फूलपुर को निर्देशित करते हुए कहा कि स्ट्रीट लाइट/मार्ग प्रकाश की व्यवस्था पर किये जाने वाले प्रस्तावित कार्याें के स्थान पर जल निकासी व्यवस्था, ठोस अपशिष्ट प्रबंधन, परिसम्पत्तियों के रख-रखाव, सड़क निर्माण कार्य आदि से संबंधित कराये जाने वाले प्रस्तावित कार्याें की सूची उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। इसी के साथ ही जिन नगर पंचायतों को जेसीबी खरीदने की आवश्यकता हो तो उसका भी प्रस्ताव उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।
जिलाधिकारी ने समस्त अधिशासी अधिकारी नगर पालिका/नगर पंचायतों को निर्देश दिये कि जो भी प्रस्तावित कार्याें को स्वीकृति उपरान्त कराया जाना है, उसमें लगने वाले सभी सामानों को जेम पोर्टल से ही क्रय करना सुनिश्चित करें।
इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने बरसात के मौसम को देखते हुए समस्त नगर पालिका/नगर पंचायतों के ईओ को निर्देश दिये कि अपने संबंधित क्षेत्रों में साफ-सफाई, जल निकासी की व्यवस्था ठीक करायें, जिससे डायरिया, डेंगू, मलेरिया, जेई आदि की बीमारी उत्पन्न न हो। यदि किसी भी नगर पालिका/नगर पंचायत क्षेत्रों में उक्त बीमारी की शिकायत आने पर संबंधित ईओ के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी, वह इसके लिए जिम्मेदार होंगे।
आगे जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिये कि अपने-अपने क्षेत्रों में प्रतिदिन फाॅगिंग रोस्टर के अनुसार कराना सुनिश्चित करें। फाॅगिंग में डाला जाने वाला केमिकल उच्च क्वालिटी का होना चाहिए, इसकी गुणवत्ता में किसी प्रकार की कोई शिकायत न हो।
इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने समस्त अधिशासी अधिकारी नगर पालिका/नगर पंचायतों को निर्देश दिये कि जो नये कार्य स्वीकृत किये गये हैं, उसका  टीएस (तकनीकी स्वीकृति) करा लें और जो कार्य नाले के कार्य से संबंधित हो, उसको जल निगम विभाग से टीएस कराने के बाद ही कार्य करायें।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन नरेन्द्र सिंह, एसडीएम सदर रावेन्द्र सिंह, समस्त अधिशासी अधिकारी नगर पालिका/नगर पंचायतें सहित संबंधित नगर पंचायतों के अध्यक्ष उपस्थित रहे।
0Shares
Total Page Visits: 201 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *