शख्स नहीं शख्सियत बनकर जीना चाहता हूँ – इसरार अहमद

आजमगढ़ जिले के बिलरियागंज बाज़ार में सपा नेता व पूर्व ब्लाक प्रमुख इसरार अहमद ने आज सैकड़ों ज़रूरतमंद परिवारों को राशन वितरित किया . इस दौरान सोशल डीस्टेंसिंग का ख्याल रखते हुए पूर्व प्रमुख इसरार अहमद ने लोगों में राहत सामग्री का वितरण करवाया . इसरार अहमद अक्सर कहते हैं कि शख्स नहीं शख्सियत बनकर जीना चाहता हूँ . शख्स ख़तम हो जाता है शख्सियत ज़िंदा रहती है . अल्लाह ने मुझे जो लोगों की खिदमत करने का मौक़ा दिया है मैं उसपर खरा उतरने की पूरी कोशिश ज़रूर करूंगा . इसरार अहमद की ये कही हुई बातें आज सच साबित हो रही हैं ..इसरार आज शख्स नहीं , शख्सियत बन चुके हैं …आजमगढ़ जिले में कोई ऐसी विधानसभा नहीं होगी जहाँ इसरार अहमद ने ज़रूरतमंदों की मदद न की हो …इसरार इसी सिलसिले में आज बिलरियागंज के मुख्य बाज़ार में थे . जहाँ उन्होंने 154 लोगों में राशन के पैकेट्स वितरित किये , लोग अपने बीच मदद पाकर काफी खुश भी नज़र आ रहे थे . इसरार के इस काम से पूरे जिले में चर्चा आम है कि ऐसा ही जननेता हमारा सांसद और विधायक होना चाहिए , जो लोगों की तकलीफों को समझता है .

0Shares
Total Page Visits: 806 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *