लोक अदालत में 28803 वादों का निस्तारण

 674740 रूपये अर्थदण्ड के रूप में वसूला
 हिन्दी दिवस एवं लोक अदालत का शुभारम्भ करते प्रभारी जनपद न्यायाधीश
फतेहपुर। जिला विधिक सेवा प्राधिकारण के बैनर तले प्रभारी जनपद न्यायाधीश जय प्रकाश यादव की अध्यक्षता में दीवानी न्यायालय परिसर में शनिवार को हिन्दी दिवस एवं राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। जिसमें 28803 वादों का निस्तारण करने के साथ ही फौजदारी वादों में 674740 रूपये वसूल किये गये। एमएसी मामलों में 390000 हजार रूपये प्रतिकर के रूप में दिलाये गये।
हिन्दी दिवस एवं राष्ट्रीय लोक अदालत का शुभारम्भ प्रभारी जनपद न्यायाधीश जय प्रकाश यादव ने मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण, दीप प्रज्जवलन एवं मां सरस्वती की वंदना करके किया। अपने सम्बोधन में प्रभारी जनपद न्यायाधीश ने हिन्दी भाषा के महत्व को व्यक्त करते हुए अदालतों में अधिक से अधिक हिन्दी भाषा का प्रयोग करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होने हिन्दी भाषा को जनमानस की भाषा बताया। गोष्ठी को विशेष न्यायाधीश विजय शंकर उपाध्याय, अपर जनपद न्यायाधीश राकेशधर दुबे, विशेष न्यायाधीश धनेन्द्र प्रताप सिंह, फेमली कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश नवनीत कुमार गिरि एवं प्राधिकरण के सचिव ने भी हिन्दी दिवस पर अपने विचार रखे। लोक अदालत में न्यायिक अधिकारियों द्वारा 28803 वादों का निस्तारण किया गया। एमएसी के मामले में 390000 रूपये प्रतिकर के रूप में दिलाये गये। बैंकिंग संस्थानों द्वारा 93239490 रूपये के 1652 बैंक वसूली वादों का प्रीलिटिगेशन के माध्यम से निस्तारण किया गया। जिले की नगर पालिका परिषदों द्वारा 824052 रूपये की धनराशि के 1464 मामले भी निस्तारित किये। राजस्व न्यायालयों द्वारा 260 राजस्व वाद, 20 चकबंदी, 341 दाण्डिक शमनीय तथा 14870 अन्य प्रीलिटिगेशन प्रकरणों का निस्तारण किया गया। विद्युत विभाग द्वारा 898944 रूपये की धनराशि के 9692 मामलों का निस्तारण किया गया। सहायक श्रमायुक्त द्वारा 14580 रूपये के 21 मुकदमों का निस्तारण किया गया। लोक अदालत की सफलता पर प्रभारी जनपद न्यायाधीश ने न्यायिक, प्रशासनिक, पुलिस अधिकारियों, कर्मचारियों, अधिवक्ताओं, मीडिया कर्मियों, जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष व सचिव के प्रति आभार व्यक्त करते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया।

0Shares
Total Page Visits: 1378 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *