लॉकडाउन 3.0 की आहट मिलते ही सीमाओं पर बढ़ी सख्ती

बॉर्डर पर बड़ी संख्या में रोके गये वाहन, कई जरूरतमंद भी हलाकान
 बाकरगंज बैरियर पर चार पहिया वाहन को रोक कर पूछताछ करते पुलिस कर्मी
फतेहपुर। कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिये लगाए गये लॉकडाउन के द्वितीय चरण के बाद शासन द्वारा तृतीय चरण में जनपद के ग्रीन जोन में होने के बाद भी किसी तरह की राहत न दिए जाने के निर्देश पर जिले की सभी सीमाओं पर सख्ती बढ़ा दी गयी। सीमाओं पर लगे बैरियरों पर महानगरो से आने वाले प्रवासियो को जनपद की सीमाओं में प्रवेश करने से रोक दिया गया। पुलिस की सख्ती के कारण कानपुर सीमा से लगने वाली छिवली नदी, रायबरेली बार्डर के आसनी पुल समेत ग्रामीण क्षेत्रो से लगी हुई सीमाओं पर लोगों को प्रवेश से रोक दिया गया। छिवली नदी व असनी पुल पर बड़ी संख्या में वाहनों को प्रवेश करने रोक दिया गया और उन्हें वापस कर दिया गया जबकि जरूरी सामानों की आपूर्ति करने वाले वाहनो की गहराई से तलाशी ली गयी। प्रवेश करने से रोके जाने पर सीमा पर बड़ी संख्या में प्रवासी वही आस पास बैठ गये जिन्हें समाजिक संगठनों की मदद से प्रशासन द्वारा खाने पीने की व्यवस्था की गयी। देश भर में कोरोना संक्रमण के मामलों में बेतहाशा वृद्धि को देखते हुए सरकार द्वारा रविवार को समाप्त हो रहे लॉकडाउन को बढ़ाकर 18 मई तक कर दिया गया। गृह मंत्रालय द्वारा जारी सूची में जनपद के ग्रीन जोन में होने के कारण लोग लॉकडाउन के द्वितीय चरण समाप्त होने के बाद राहत की उम्मीद लगाए हुए थे लेकिन देश एव प्रदेश में कोरोना संक्रमण के आंकड़ो में लगतार बढ़ोत्तरी होने से लॉक डाउन के तृतीय चरण के लिये बढ़ा दिया गया। कामकाज बन्द होने व भूख प्यास से परेशान होकर महानगरों में रोजगार की तलाश में गये प्रवासी मजदूरों का आना जारी है। गैर प्रान्तों में कोरोना संक्रमण के मामले अधिक होने के कारण ग्रीन जोन में शामिल जनपद में भी कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा सीमा पर निगरानी बढ़ाते हुए लोगो के प्रवेश को रोक दिया गया। इस दौरान जनपद सीमा में केवल जरूरी समानों की अपूर्ति करने वाले वहानो के अलावा पास धारकों को ही आने दिया जा रहा है। इसी तरह शहर के अंदर भी बड़ी संख्या में सीमाओं पर लगाये गये बैरियरों पर लॉकडाउन के दौरान इधर उधर घूमने वालो को रोककर कार्रवाई की गयी। पुलिस की इस कार्रवाई से आवश्यक कार्यो से निकलने वाले लोगों को भी रोके जाने से असुविधा का सामना करना पड़ा। जबकि सीमा पर प्रसूताओं एव बीमारों को लेकर जाने वाले वाहनो को भी रोक दिया गया। जिन्हें काफी मिन्नते करने के बाद तथ्यो की जांच पड़ताल व औपचारिकता करने के बाद ही जाने की अनुमति दी गयी। पुलिस की सख्ती के कारण लोंगो में जमकर हड़कम्प मचा रहा।

0Shares
Total Page Visits: - Today Page Visits:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *