लुधियाना से वतन लौटे प्रवासियों ने ली राहत की सांस

लॉक डाउन में काम धंधे बन्द होने से निवालो को हो गये थे मजबूर
 ट्रेन से उतरकर प्लेटफार्म पर चलते यात्री
फतेहपुर। कोरोना महामारी की वजह से हुए लॉकडाउन में पंजाब के लुधियाना में खाने पीने की समस्याओं से जूझ रहे मजदूरों को जनपद वापस लौटने पर खुशी का ठिकाना नहीं था। स्पेशल श्रमिक ट्रेन के जरिए 1491 यात्रिओं को वापस लेकर आयी इस ट्रेन में जनपद के अलावा गैर जिलों के भी लोग शामिल है। स्टेशन पर उतरते ही यात्रियों की मेडिकल जांच के बाद लंच पैकेट व पानी की बोतल देने के बाद उनके ब्लाको के लिये भेज दिया गया। गैर जिलों के यात्रियों का भी स्वास्थ्य परीक्षण करने के बाद रोडवेज बसों के जरिये उनके जिलों को ओर रवाना किया गया। श्रमिकों को लेकर आने वाली स्पेशल ट्रेन के आने से पहले ही प्लेटफार्म को सेनेटाइज कराये जाने के साथ ही थर्मल स्क्रीनिंग के लिये सोशल डिस्टेंसिंग के साथ गोले बनवाये गये थे। जिलाधिकारी संजीव सिंह व पुलिस प्रशांत वर्मा समेत प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा सभी व्यवस्थाओं का पूरी तरह जायजा लिया गया। दोपहर लगभग बारह बजे जैसे ही ट्रेन स्टेशन पहुँची डीएम संजीव सिंह एसपी प्रशांत वर्मा के निर्देशन में यात्रियों को सोशल डिस्टेंसिंग के बीच कतारबद्ध कर थर्मल स्क्रीनिंग कराया गया तत्पश्चात रोडवेज बसों के जरिए उनके ब्लाक भेजा गया। ट्रेन से आये गैर जनपद के यात्रियों को रोडवेज बसों के जरिए उनके जनपद के लिये रवाना किया गया। ब्लाकों में पहुंचने वाले यात्रियों के गांव का नाम पता दर्ज करने के बाद कोरोना महामारी के बाबत जानकारी देने के साथ ही परिवार से अलग रहने के निर्देश के साथ होम क्वारन्टीन के लिये गांव भेजा गया। गांव पहुंचने के बाद होम क्वारन्टीन में रह रहे श्रमिको की निगरानी के लिये जिला प्रशासन द्वारा निगरानी टीम भी लगाई गयी है। जिसमे ग्राम प्रधान, स्वास्थ विभाग के अलावा आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां द्वारा क्वारन्टीन व्यक्तियों की जानकारी जिला प्रशासन तक पहुंचाई जायेगी।

0Shares
Total Page Visits: 221 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *