लम्बी जद्दोजद के बाद कलेक्ट्रेट के शौचालय शुरू

 कलेक्ट्रेट स्थित शौचालय का ताला खुलवातीं ईओ मीरा सिंह
फतेहपुर। नगर पालिका परिषद द्वारा स्वच्छ भारत मिशन के तहत कलेक्ट्रेट परिसर में तीन शौचालयों का निर्माण कराया गया था। इनमें एक पिंक शौचालय भी शामिल था। निर्माण कार्य पूरा होने के बाद कुछ दिनों तक इन शौचालयों का इस्तेमाल आने-जाने वाले वादकारियों के साथ-साथ आम लोगों ने किया था। लेकिन एक माह के अंदर ही इन शौचालयों पर ताला लटकने लगा था। मीडिया ने इस मामले को प्रमुखता से उठाया था। यहां तक कि दो दिन पहले जिले में आये प्रभारी मंत्री रामनरेश अग्निहोत्री के समक्ष भी यह मुद्दा छाया रहा। अंततः नगर पालिका परिषद प्रशासन जागा और बुधवार से इन शौचालयों को फिर से जनता के लिए शुरू करवा दिया गया है लेकिन अब शौचक्रिया के लिए जाने वालां को शुल्क अदा करना पड़ेगा।
बताते चलें कि कलेक्ट्रेट में आने वाले वादकारियों व आमजन की सुविधा के लिए नगर पालिका परिषद ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत कलेक्ट्रेट स्थित निर्वाचन कार्यालय, महात्मा गांधी पार्क के बाहर तथा कलेक्ट्रेट के दक्षिणी गेट के बाहर शौचालय बनवाये गये थे। जिन पर लाखों रूपये व्यय हुए थे। निर्माण कार्य पूरा होने के बाद इन शौचालयों का इस्तेमाल बमुश्किल एक माह तक ही हुआ होगा। इसके बाद तीनों शौचालयों पर ताले लटक रहे थे। जिले भर की समस्याओं व शिकायतों का निस्तारण करने वाले शीर्ष अधिकारी की नाक के नीचे बंद शौचालय शासन व प्रशासन की कारगुजारी पर उंगलियां उठा रहे थे। मामला चर्चित हो जाने पर नगर पालिका परिषद की अधिशाषी अधिकारी मीरा सिंह ने इन शौचालयों पर लगे तालों को खुलवाने के बाद जनता के लिए शुरू करवा दिया। ईओ ने बताया कि शौचक्रिया के लिए जाने वालों पर दो रूपये का शुल्क निर्धारित किया गया है। शौचालयों की साफ-सफाई के लिए सभी शौचालयों पर एक-एक कर्मी भी तैनात कर दिया गया है।

0Shares
Total Page Visits: 662 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *