लखनऊ धरने को सफल बनाने की बनाई रणनीति

 प्रेरकों पर अन्याय बर्दाश्त नहीं करेगा संगठन
 नहर कालोनी में बैठक करते साक्षरता प्रेरक
फतेहपुर। आदर्श साक्षरता कर्मी वेलफेयर एसोसिएशन की बैठक में आगामी 18 मार्च को लखनऊ में आयोजित होने वाले धरने को लेकर चर्चा की गयी। पदाधिकारियों ने धरने को सफल बनाने की जहां रणनीति बनाई। वहीं वक्ताओं ने कहा कि प्रेरकों पर अन्याय बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। धरने के बाद भी अगर कार्रवाई न की गयी तो अनवरत संघर्ष व विधानसभा का घेराव किया जायेगा।
गुरूवार को नहर कालोनी प्रांगण में आदर्श साक्षरता कर्मी वेलफेयर एसोसिएशन की एक बैठक जिलाध्यक्ष शशिकांत यादव की अध्यक्षता में आयोजित हुयी। जिला महामंत्री प्रभात कुमार सिंह के नेतृत्व में शिक्षा प्रेरकों व पदाधिकारियों ने बैठक में हिस्सा लिया। जिलाध्यक्ष ने बताया कि सरकार शिक्षा प्रेरकों के साथ अन्यायपूर्ण व्यवहार कर रही है। जो अनुचित व अमानवीय है। जिसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। उन्होने बताया कि 31 मार्च 2018 को सेवा समाप्त कर दी गयी व शिक्षा प्रेरकों का 48 माह का बकाया मानदेय भुगतान भी जारी नहीं किया गया। जिला महामंत्री ने कहा कि यह अन्याय बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। यदि शिक्षा प्रेरकों का बकाया मानदेय व सेवावृद्धि नहीं की गयी तो शिक्षा प्रेरकों द्वारा प्रादेशिक नेतृत्व के दिशा-निर्देश में 18 मार्च को इको गार्डेन लखनऊ में एक दिवसीय धरने को अंजाम देंगे। इसके बाद भी अगर कार्रवाई न की गयी तो अनवरत संघर्ष व विधानसभा घेराव के लिए विवश हो जायेंगे। बैठक में राजीव कुमार श्रीवास्तव, संतोष कुमार गुप्ता, उमाकांत, जनार्दन मिश्र, शिव भूषण, लाखन सिंह, राम बाबू, राम कुमार भारती, रवीन्द्र कुमार, शेर आलम, रमाशंकर यादव, राजेश द्विवेदी, राम प्रसाद, राजेश कुमार, शिव मोहन सिंह, भूपेन्द्र सिंह, विजय गुप्ता, रामकरण लोधी, सुशील कुमार, रिजवाना खान, श्यामरती, आशा देवी, सोमवती, बीना सिंह, रंजना देवी आदि मौजूद रहे।

0Shares
Total Page Visits: 279 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *