रेलवे का बेसमेन्ट पुल ग्रामीणां के लिए बना मुसीबत

जल निकासी न होने से ग्रामीणों को आ रही दिक्कत

फतेहपुर। हस्वा विकास खण्ड क्षेत्र के फैजुल्लापुर स्टेशन नाका के समीप रेलवे द्वारा बनाये गये बेसमेन्ट पुल में जल निकासी न होने से यह पुल ग्रामीणों के लिए मुसीबत बन गया। वाहन सवारों के साथ-साथ ग्रामीण जान जोखिम में डालकर रेलवे ट्रैक के ऊपर से निकल रहे हैं। जो हादसे को कभी भी दावत दे सकता है। यदि कोई हादसा इस स्थान पर हो गया तो इसका जिम्मेदार कौन होगा।

बताते चलें कि सदर विधानसभा के विकास खण्ड हस्वा क्षेत्र के फैजुल्लापुर स्टेशन नाका पर रेलवे द्वारा बेसमेन्ट पुल बनाया गया है। जिसमे सैकड़ों की संख्या में मोटर साइकिल, चार पहिया वाहन निकलते हैं। इस पुल पर 4 से 5 फिट तक पानी भरा हुआ है। जल निकासी न होने के चलते जलभराव की भीषण समस्या उत्पन्न हो गयी है। जिससे लोगो को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने इस पार से उस पार जाने के लिए एक नया रास्ता ढूढ निकाला है। रेलवे ट्रैक से सीधे वाहन सवार व ग्रामीण जान जोखिम में डालकर निकलने का काम कर रहे हैं। इतना ही नहीं बाइक व साइकिल को घर की महिलाएं महिलाए व बच्चे धक्का लगाते हैं। रेलवे प्रशासन को इसकी कोई खबर नहीं है। फैजुल्लापुर स्टेशन के समीप जो रेलवे का फाटक था उसपे सात से आठ फुट दीवार खडी है। इससे गेट से निकले का भी कोई विकल्प नहीं है। यदि इस स्थान पर कोई हादसा हो गया तो इसका जिम्मेदार कौन होगा?

0Shares
Total Page Visits: 215 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *