राष्ट्रपति ने वयोश्रेष्ठ सम्मान प्रदान किए

राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने आज (3 अक्टूबर, 2019) को नई दिल्ली में वयोश्रेष्ठ सम्मान प्रदान किए। यह सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय की वरिष्ठ नागरिकों को राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान करने की एक योजना है।

इस अवसर पर बोलते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि वरिष्ठ नागरिक हमारे सामाजिक एवं राष्ट्रीय जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। केंद्र एवं राज्य सरकारों ने उनके जीवन को आसान बनाने के लिए आयुष्मान भारत, रियायती रेल किराए, वरिष्ठ नागरिकों की जमा योजनाएं, वृद्धावस्था पेंशन जैसे कई कदम उठाए हैं।

राष्ट्रपति ने कहा कि सरकारों और गैर-सरकारी संगठनों द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना करने के साथ ही हमें वरिष्ठ नागरिकों की कुछ जिम्मेदारियां अपने स्तर पर भी लेनी चाहिए। हमें मिलकर ऐसा वातावरण बनाना चाहिए जिसमें उन्हें विचारों और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता हो। हमें उन्हें यह महसूस कराना होगा कि परिवार और समाज के लिए उनका योगदान उपयोगी है। इससे उन्हें आत्मसंतुष्टि का एहसास होगा और उनका शरीर एवं दिमाग स्वस्थ रहेगा।

राष्ट्रपति ने कहा कि युवा पीढ़ी को हमेशा यह याद रखना चाहिए कि बुजुर्ग हमारी विरासत और परंपरा का प्रतीक हैं। उन्हें उचित सम्मान और मदद देकर युवा अपने जीवन में प्रगति कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि सभी पीढ़ियों को सामंजस्य बनाकर साथ में रहना चाहिए और संयुक्त परिवार की हमारी संस्कृति को बरकरार रखना चाहिए। प्रकृति ने हर पीढ़ी के बीच एक अटूट रिश्ता बनाया है ताकि हमारा अनुभव, ज्ञान और कौशल अगली पीढ़ी तक मूल रूप से स्थानांतरित हो सके।

इस अवसर पर उपस्थित अन्य गणमान्य लोगों में केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री थावरचंद गहलोत और केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री श्री कृष्ण पाल गुज्जर शामिल थे।

0Shares
Total Page Visits: 594 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *