राम मंदिर के बाद माँ गंगा चढ़ी सियासत की भेंट, रामगोविंद चौधरी नेता प्रतिपक्ष

यूपी सरकार की सबसे बड़ी मुहिम गंगा स्वच्छता अभियान के तहत गंगा यात्रा पर विपक्ष के नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने भाजपा पर राजनीतिक हमला बोलते हुए कहा गंगा से उनका कोई मतलब नही, गंगा समाजवादी है हम समाजवादी है। वही बिजनौर से लेकर बलिया तक गंगा यात्रा के नाम पर किये विज्ञापन पर कहा गंगा यात्रा के नाम पर करोङो रुपये की बर्बादी हुई है उसका हिसाब कौन देगा।
 सियासत के राजनीतिक गलियारे में नेताओं का एक दूसरे पर तीखा हमला करना कोई नई बात नही है लेकिन आस्था के नदी, माँ गंगा को राजनीतिक मुद्दा बना कर राजनीति करना ये देश के हर बड़ी पार्टी का चुनावी फंडा बन चुका है, पहले राम मंदिर था अब जब राम मंदिर का मुद्दा खत्म हुआ तो माँ गंगा को ही राजनीति की बलि चढ़ाई जा रही है। ताजा मामला बलिया के समाजवादी पार्टी के विधान सभा नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी के एक कार्यक्रम के दौरान का है। जहाँ मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए समाज के हर वर्ग से जुड़ी, माँ गंगा को समाजवादियों की गंगा बता दिया। कहा गंगा यात्रा कोई योजना नही है योजना सफाई की है वही गंगा सफाई योजना को कांग्रेस की योजना बताया कहा इनको गंगा से क्या लेना देना है।
नेताप्रतिपक्ष के इस बयान के बाद राजनीतिक गलियारों में हलचल होना तय है और कोई शक नही कि माँ गंगा को अब राजनेताओ ने राजनीतिक स्टंड के रूप में, वो चाहे पक्ष हो या विपक्ष, दोनो ही ने स्तेमाल करना शुरू कर दिया है। इस बयान के बाद ये भी तय है कि आने वाले चुनाव में गंगा का मुद्दा, विपक्ष के लिए एक बड़ा मुद्दा होगा। जिसके सहारे हर पार्टी चुनावी बिगुल बजाने का काम करेगी, क्यों की गंगा इस देश मे रहने वाले उस हर एक व्यक्ति की है जो इन नेताओं को वोट देंगी और वोट देने वाला हर नागरिक गंगा से जुड़ा है, वो चाहे आस्था के नाम पर हो या सिर्फ जल ही जीवन की सत्यता से जुड़ा हो। अब तो आने वाला वक्त ही बताएगा कि गंगा किसकी है इन राजनीतिक पार्टियों की या समाज के उस हर एक तबके में रहने बुद्धिजीवियों और इस देश की, जिनसे गंगा युगों युगों से जुड़ी है।
0Shares
Total Page Visits: 399 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *