रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास योगी आदित्यनाथ की किस बात से हो गए नाराज़

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुस्लिम महिलाओं की एक पंचायत ने कहा कि जैसे ट्रिपल तलाक कानून बना है वैसे ही हिंदू धर्म में अगर कोई शादी करके अपनी पत्नी को छोड़ देता है और दूसरी महिला के साथ रहने लगता है तो ऐसे पुरुषों को दंडित किया जाएगा और जरूरत पड़ी तो इसके लिए कानून बनाया जाएगा इसी को लेकर हमने अयोध्या के रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने
योगी आदित्यनाथ को चुनौती दी है।कहां की हिंदुओं के लिए हिंदू मैरिज एक्ट में बाकायदा एक शादी का प्रावधान किया गया है और दूसरी शादी के लिए दंडित किया गया है।हिंदुओं के लिए एक और कानून की कोई जरूरत नहीं है
वही आचार्य सत्येंद्र दास ने कहा है। पहले समान नागरिक संहिता लाएं अगर इनके अंदर क्षमता है।और एक ही शादी विवाह करें पूरे भारत में हर धर्म समुदाय के लोग तब तो यह मान्य है अगर मुसलमान चार शादी करेंगे और उसके बाद तमाम अन्य लोग ऐसा करेंगे इस पर कोई प्रतिबंध नहीं है तो हिंदू के ऊपर इस तरह क्यों ला रहे हैं कानून इस तरह नहीं बनेगा कानून समान नागरिक संहिता के रूप में बनेगा और सभी के लिए वह लागू होगा केवल हिंदू के लिए नहीं हिंदू मैरिज एक्ट तो पहले से लागू है जिसमें एक पत्नी की बात है फिर दूसरा कानून यह क्यों ला रहे हैं अगर कोई दो पत्नी रखता है और सार्वजनिक होने पर उसके खिलाफ कार्रवाई होती है तो यह नई बात क्यों कह रहे हैं मुख्यमंत्री जी यह तो हिंदुओं के लिए पहले से है अन्य वर्गों के लिए इसको क्यों नहीं लागू करते अगर आपके अंदर क्षमता है तो अन्य वर्गों के लिए भी लागू करिए और समान नागरिक संहिता कानून लाइए वही सारे भारत के लिए उचित होगा।
0Shares
Total Page Visits: 2568 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *