मांगों को लेकर डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन ने सौंपे ज्ञापन

डीएम को ज्ञापन देने जाते बार एसोसिएशन के पदाधिकारी
फतेहपुर। बालकों की देखरेख और संरक्षण अधिनियम 2015 के अनुसार किशोर न्याय बोर्ड के सदस्यों का गठन करने एवं पुरानी तहसील में संचालित हो रहे उपनिबंधन कार्यालय को जनता व अधिवक्ताओं को ध्यान में रखते हुए कलेक्ट्रेट परिसर में स्थानान्तरित करने की मांग को लेकर डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री व जिलाधिकारी को सम्बोधित दो ज्ञापन सौंपे।
डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष सुशील मिश्रा एडवोकेट एवं महामंत्री विजय कुमार सिंह एडवोकेट की अगुवई में पदाधिकारी कलेक्ट्रेट पहुंचे और मुख्यमंत्री एवं जिलाधिकारी को सम्बोधित दो अलग-अलग ज्ञापन उप जिलाधिकारी को सौंपकर बताया कि जनपद में गठित किशोर न्याय परिषद के सदस्य सुरेश सिंह यादव का कार्यकाल समाप्त हो चुका है। सुरेश सिंह यादव के अलावा किशोर न्याय परिषद में कोई अन्य सदस्य गठित नहीं किये गये। वर्तमान समय में मात्र प्रधान न्यायिक मजिस्ट्रेट ही नियुक्त है। किशोर न्याय अधिनियम के अनुसार न्यूनतम प्रधान सदस्य के साथ एक सदस्य नियुक्त किया जाना आवश्यक है। तभी किशोर न्याय परिषद कोई निर्णय अधिनियम के आधार पर दे सकेंगे। अधिवक्ताओं ने मुख्यमंत्री से मांग किया कि अविलम्ब सदस्य नियुक्त करने का आदेश दिया जाये। जिससे किशोर न्याय बालकों की देखरेख हो सके।
जिलाधिकारी को सम्बोधित ज्ञापन में अधिवक्ताओं ने बताया कि पुरानी तहसील परिसर के सैकड़ों वर्ष पुराने भवन में उपनिबंधन कार्यालय संचाति हो रहा है। जिसका भवन अत्यंत जीर्ण-शीर्ण हालत में पहुंच गया है। जो किसी भी समय क्षतिग्रस्त हो सकता है। जनता एवं अभिलेखों की हानि की संभावना भी बनी रहती है और वहां पर कोई भी सुरक्षा व्यवस्था भी नहीं है। आम जनता व अधिवक्ताओं के हितों को देखते हुए उक्त निबंधन कार्यालय को कलेक्ट्रेट परिसर में स्थानान्तरित कर संचालित किया जाना आवश्यक है। यह भी कहा गया कि यदि कार्यालय को संचालित करने के लिए कोई भवन न हो तो एसोसिएशन उक्त कार्यालय को संचालित करने के लिए अपना भवन उपलब्ध कराने को भी तैयार है। अधिवक्ताओं ने डीएम से मांग किया कि उपनिबंधन कार्यालय को कलेक्ट्रेट परिसर में संचालित करने की कार्रवाई की जाये। इस मौके पर अरविन्द नारायण मिश्रा, प्रेमशंकर त्रिवेदी, दीपचन्द्र त्रिपाठी, अमित तिवारी, अखिलेश त्रिवेदी, शैलेन्द्र द्विवेदी, विभव परिहार, रामजी सहाय, मुलायम सिंह यादव, बंशीलाल समेत तमाम अधिवक्तागण मौजूद रहे।

0Shares
Total Page Visits: 364 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *