महात्मा गांधी पर ‘डिजिटल गांधी ज्ञान-विज्ञान’ नामक डिजिटल प्रदर्शनी का उद्घाटन

महात्‍मा गांधी की 150वीं जयंती को चिन्हित करने में एक वैज्ञानिक परिप्रेक्ष्‍य लाते हुए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के सचिव प्रो. आशुतोष शर्मा ने आज महात्मा गांधी पर ‘डिजिटल गांधी ज्ञान-विज्ञान’ नामक डिजिटल प्रदर्शनी का उद्घाटन किया।

इस प्रदर्शनी का आयोजन आईआईटी द्वारा इन्‍क्‍यूबेशन के तहत एक प्रौद्योगिकी स्‍टार्ट-अप मैसर्स विजारा टेक्‍नालॉजिज प्राइवेट लिमिटेड  के सहयोग से किया गया है। इस प्रदर्शनी के निम्‍नलिखित घटक हैं :

  1. वीआर एक्‍सपेरियंस : यह गांधीजी के जीवन, विशेष रूप से साबरमती आश्रम में उनके जीवन पर विशेष फोकस के साथ, पर आधारित इमर्सिव वर्चुवल रियलिटी अनुभव है। आगंतुक कम्‍प्‍यूटर के साथ तार से जुड़ा एक वी आर हेडसेट पहनता है और साबरमती आश्रम में घूमने के अनुभव का आनंद उठाता है। साथ ही वास्‍तविक दुनिया में शारीरिक रूप से घूमते हुए महत्‍वपूर्ण अवधियों और स्‍थानों का अवलोकन करता है।

II. ए आर एप के साथ चरखा : यह चरखा के साथ एक फेब्रीकेटेड भौतिक मॉडल है, जो एक स्‍मार्ट फोन या टैबलेट जैसे हाथ में पकड़े जाने वाले उपकरण पर एक ए आर एप के जरिए देखे जाने पर एनिमेटेड रहता है। उपयोगकर्ता ए आर एप से इसके इतिहास, मेकेनिक्‍स एवं गांधीजी से संपर्क की जानकारी प्राप्‍त करते हैं।

समारोह के एक हिस्‍से के रूप में, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग ने 3 एवं 4 अक्‍टूबर, 2019 को लगभग 200 स्‍कूली छात्रों के लिए एक कार्यशाला के आयोजन हेतु आईआईटी गांधी नगर की सेवाएं भी ली हैं। कार्यशाला में आईआईटी गांधीनगर स्‍कूली छात्रों को इलेक्‍ट्रॉमेगनेटिक इंडेक्‍शन के सिद्धांतों पर उनके द्वारा बनाए गए नवोन्‍मेषी चरखा जनरेटर के बारे में बताएगा। कार्यशाला के बाद प्रतिभागी बच्‍चों को यह चरखा जनरेटर उपहार स्‍वरूप दे दिया गया है।

डिजिटल गांधी ज्ञान-विज्ञान प्रदर्शनी विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों एवं उनके परिवारजनों तथा विभाग के अन्‍य आगंतुकों के लिए कुछ दिनों तक विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग में प्रदर्शित की जाती रहेगी।

0Shares
Total Page Visits: 926 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *