मनरेगा जांच के दौरान प्रधान पर हुए हमले से संघ नाराज

डीएम को ज्ञापन सौंपकर हमलावरों पर कार्रवाई की उठायी मांग
कलेक्ट्रेट पर ज्ञापन देने के लिए प्रधान संघ के पदाधिकारी
फतेहपुर। असोथर विकास खण्ड की ग्राम पंचायत बेरूई में मनरेगा जांच के दौरान गांव के ही कुछ लोगों द्वारा प्रधान के ऊपर हुए जानलेवा हमले से ग्राम प्रधान संघ में गहरी नाराजगी व्याप्त है। संघ ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर जिलाधिकारी को एक ज्ञापन सौंपकर प्रधान के ऊपर हुए हमले के आरोपियों पर मुकदमा दर्ज करने की मांग उठायी।
ग्राम प्रधान संघ के जिलाध्यक्ष नदीम उद्दीन पप्पू की अगुवई में पदाधिकारी कलेक्ट्रेट पहुंचे और जिलाधिकारी को एक ज्ञापन सौंपकर बताया कि ललित कुमार सैनी पुत्र गंगासागर बेरूई गांव का निर्वाचित प्रधान है। ग्राम सभा में मनरेगा जांच का आदेश मुख्य विकास अधिकारी ने दिया था। सीडीओ के निर्देश पर खण्ड विकास अधिकारी असोथर मौके पर जांच करने पहुंचे थे। तभी गांव के ही शिवशंकर पुत्र हीरालाल, उमाकांत पुत्र श्रीराम, जमुना प्रसाद, काशी प्रसाद, उमेश प्रसाद, साहिल पुत्र विद्या भूषण, अरूण पुत्र ओम प्रकाश, बेनी प्रसाद पुत्र शिवशरन, हेमन्त पुत्र शिवशरन, नवल शुक्ला पुत्र वेद शुक्ला, राम प्रसाद पुत्र शीतल, रमाकांत उर्फ फुल्लन पुत्र सूरजपाल, शैलेन्द्र प्रसाद पुत्र अम्बिका प्रसाद सहित तमाम अन्य लोग एकराय होकर तमंचा लेकर गाली-गलौज एवं ईट पत्थर चलाने लगे। इस हमलें में प्रधान व उसके पिता को गम्भीर चोटे आयी हैं। दबंगों ने सरकारी दस्तावेज भी फाड़ दिये। खण्ड विकास अधिकारी को भी भद्दी भद्दी गालियां दीं। जिससे अफरा-तफरी मच गयी और जांच कार्य संभव नहीं हो सका। बताया कि मारपीट के दौरान दबंगों ने प्रधान की सोने की चेन भी लूट ली। घटना 29 मई शाम चार बजे की है। मांग की गयी कि दबंगों के खिलाफ तत्काल मुकदमा दर्ज कराया जाये। इस मौके पर नरेन्द्र यादव सुल्तान, राजकुमार सिंह, भोला शंकर द्विवेदी, सुरेश कुमार आदि मौजूद रहे।

0Shares
Total Page Visits: 234 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *