मदद के नाम पर गरीबों का उपहास उड़ा रहे अमीर

 खाद्यान्न वितरण में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ा रहे सत्ता पक्ष के नेता
 प्रशासन की रोक के बावजूद स्वयं अपना झण्डा ऊंचा कर रहे कुछ अमीर
सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाकर खाद्यान्न वितरण करते सत्ता पक्ष के लोग
फतेहपुर। कोविड-19 वायरस के संक्रमण की आड़ में कुछ अमीर व नेता अपनी नेतागीरी चमकाने की फिराक में लगे हुए हैं। इसका जीता जागता उदाहरण प्रतिदिन शहर सहित जिले में देखने को मिल रहा है। गरीबों की मदद के नाम पर उनके चेहरों को उजागर करके गरीबी का उपहास बनाने का काम अमीरों द्वारा किया जा रहा है। सोशल मीडिया समेत अन्य माध्यमों से खाद्यान्न व लंच वितरण की तस्वीरों को वायरल करके यह लोगों के दिलों में अपनी जगह बनाने के प्रयासों में लगे हुए हैं। जबकि ऐसे आयोजनों पर जिला प्रशासन द्वारा रोक लगाई जा चुकी है। जिला प्रशासन ने खाद्यान्न वितरण कार्यक्रम को सम्पन्न कराने के लिए प्रशासन का सहयोग करने की अपील की है। उधर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा लगातार सोशल डिस्टेंसिंग का पाठ पढ़ाया जा रहा है। इसके बावजूद ये अमीर व सत्ता पक्ष के नेता ही अपने कार्यक्रमों में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ा रहे हैं। अगर स्थिति यही बनी रही तो कोरोना वायरस को फैलने से कोई रोक नहीं सकता।
बताते चलें कि कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सम्पूर्ण देश में इक्कीस दिन का लाकडाउन घोषित किया था। लाकडाउन के दौरान गरीबों की सेवा करने के लिए भी उन्होने लोगों को प्रेरित किया था। पीएम मोदी की प्रेरणा से कुछ समाजसेवियों द्वारा इसकी शुरूआत की गयी थी। कुछ समाजसेवी तो ऐसे हैं जिन्होने अब तक लाखों रूपये की खाद्यान्न सामग्री का वितरण कर दिया और किसी को इसकी जानकारी तक नहीं हुयी। गरीबों को दो वक्त की रोटी मिल गयी और उन्होने ऐसे समाजसेवियों की जमकर प्रशंसा भी की। मगर कुछ लोग ऐसे हैं जो समाजसेवा के नाम पर अपनी राजनैतिक छवि बनाने के प्रयासों में जुटे हुए हैं। कुछ सामग्री बांटकर गरीबों के चेहरों को सोशल मीडिया में वायरल कर वाहवाही बटोरने का काम कर रहे हैं। ऐसा ही कुछ नजारा बुधवार को नेशनल हाईवे-2 कोरई मोड़ के समीप स्थित सहोद्रा मोटर्स में देखने को मिला। जहां एजेन्सी के मालिक मनोज गुप्ता द्वारा जरूरतमंदों के बीच खाद्यान्न वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें आधा सैकड़ा लोगों को खाद्यान्न सामग्री सौंपी गयी। इस कार्यक्रम में सत्ता पक्ष भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष आशीष मिश्रा, वैश्य समाज के अध्यक्ष एवं भाजपा नेता राम प्रकाश गुप्ता, बब्लू गुप्ता, सोल्डी गुप्ता, टीटू गुप्ता, सहोद्रा देवी, पूनम गुप्ता, गोविन्द गुप्ता, आदर्श गुप्ता समेत तमाम वैश्य समाज के लोग मौजूद रहे। जहां खुलेआम सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां भी उड़ाई गयीं। प्रत्येक जरूरतमंद गरीब की खाद्यान्न लेते हुए फोटो मोबाइल में कैद की गयी और इन फोटो को सोशल मीडिया पर अपना प्रचार माध्यम बनाते हुए पोस्ट की गयी। ऐसी तस्वीरों के जरिये गरीबों की गरीबी का उपहास खुलकर उड़ाया गया। इस कार्यक्रम में राजस्व विभाग का कोई भी अधिकारी व कर्मचारी नहीं था या यूं कहा जाये कि जिला प्रशासन को इस कार्यक्रम की कोई जानकारी ही नहीं दी गयी।

0Shares
Total Page Visits: 321 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *