भूख की भी अपनी एक अनसुलझी कहानी है ….

आज़मगढ़ ! भूख की भी अपनी एक कहानी है ..जिसके पास सब पूरा है , उसके लिए कोई बात नहीं ..लेकिन जो गरीब है ज़रुरत मंद है .उसके लिए ये अनसुलझी कहानी है . और वो इस अनसुलझे सवाल को लेकर सदियों से इन गलियों में भटकता है ताकि उसे भी एहसास हो सके कि वो भी ऐसा इंसान है ..जिसे बनाने के लिए हमारे देश के नेताओं ने आजादी के साथ ही गरीबी हटाओ का नारा देकर तृप्त कर दिया ..लेकिन शायद भूख और तड़प की ये अनकही दास्ताँ आज भी कहीं किसी कोने में सिसकती हुई दम तोड़ रही है …ये आंकड़े किसी से छिपे नहीं हैं . हंगर लिस्ट में भारत का जो स्थान है , जो आंकड़ा है वो आज हमें मुंह चिढ़ा रहा है . बाकि की रही – सही कसर इस वैश्विक महामारी ने पूरा कर दिया . देश में 21 दिन का लॉक डाउन है , सभी के कामकाज भी बंद हैं ..दिहाड़ी मजदूर , कामगर , फेरी करने वाले , इन सबके ऊपर भूखमरी का खतरा मंडरा रहा है . हालाँकि सरकार पूरी तरह से प्रतिबद्ध है और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़े आदेश दिए हैं कि ज़रूरतमंदों को दिन का खाना 12 से 2 बजे तक और रात का खाना 6 बजे से 8 बजे के बीच मिल जाए , लेकिन सरकारी सिस्टम कैसे काम करता है ये किसी से छिपा नहीं है . इस भूख और तड़प , जो कोरोना से भी ख़तरनाक है , उससे कहीं कोई मर न जाए ,इसलिए प्रयास सामाजिक संस्था ने बड़ी ज़िम्मेदारी दिखाते हुए इन लोगों की मदद पिछले कई दिनों से कर रही है . कहीं दिन में घूमकर प्रयास के साथी अनाज बाँटते हुए आपको दिख जायेंगे तो कहीं शाम को किसी चौराहे पर खाना बनाकर ज़रूरतमंदों में बाँटते हुए मिल जायेंगे . खुदा भी न जाने अपने बन्दों से कैसे कैसे इम्तेहान लेता है , और शायद ये इंसानियत का ऐसा इम्तेहान है , जो इसमें पास हो गया , वो शायद दुनिया के किसी भी भव सागर को पार कर जाएगा , क्योंकि इस तड़प से बढ़कर और कोई दर्द नहीं . निसंदेह प्रयास के साथियों का ये प्रयास इतिहास के उन स्वर्णाक्षरों से लिखा जाएगा जो अजर और अमर होगा . हर दिन लोगों की भूख और दर्द का इतना ख़याल कि समय से खाना लेकर पहुँच जाते हैं , ताकि कोई भूखा न सो जाए .तकरीबन जिले भर में प्रयास के साथियों द्वारा 400 लोगों को खाना बनाकर खिलाया जा रहा है , ज़रूरतमंदों को खाद्य सामग्री भी दी जा रही .आप भी प्रयास के साथियों की मदद इस मुश्किल घड़ी में प्रत्यक्ष – अप्रतयक्ष रूप से कर सकते हैं , ताकि मानवता की ये सेवा बदस्तूर ऐसे ही चलते रहे …..
अगर आपके आसपास भी ऐसा कोई संगठन या कोई व्यक्ति कर रहा है तो हमें लिख भेजिए उसकी दास्ताँ , या दीजिये उस इंसान का समपर्क सूत्र , ताकि अच्छाई पूरी दुनिया के सामने आये , और लोग एक दूसरे की मदद के लिए सामने आ सकें .

वसीम अकरम / CIB INDIA न्यूज़ एजेंसी

0Shares
Total Page Visits: 766 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *