भारतीय वायु सेना का कोरोना वायरस से लड़ने की दिशा में सहयोग

भारतीय वायु सेना ने नोवेल कोरोनावायरस का प्रबंधन करने के लिए राष्ट्र के प्रयासों में पूर्ण सहयोग करना जारी रखा है

वायुसेना ने दिल्ली, सूरत, चंडीगढ़ से लेकर मणिपुर, नागालैंड, जम्मू और कश्मीर और लद्दाख में पिछले तीन दिनों में लगभग २५ टन आवश्यक चिकित्सा उपकरणों की आपूर्ति की है। चिकित्सा उपकरणों में व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण, हैंड सैनिटाइज़र, सर्जिकल दस्ताने, थर्मल स्कैनर शामिल हैं। चिकित्सा कर्मियों को भी आवश्यकता अनुसार एयरलिफ्ट किया जा रहा है।  लद्दाख से दिल्ली तक कोरोनावायरस परीक्षण के नमूनों को नियमित रूप से एयरलिफ्ट किया जा रहा है। इसके लिए वायुसेना के सी-१७, सी-१३०, एन -३२, एवरो और डोर्नियर विमानों को आवश्यक्ता अनुसार काम सौंपा जा रहा है। सभी उभरती मांगों को पूरा करने के लिए भारतीय वायुसेना सम्पूर्ण रूप से तत्पर है।

इसके अलावा, देश भर के विभिन्न वायुसेना ठिकानों पर कई संगरोध सुविधाओं को तैयार रखा गया है। ईरान और मलेशिया से आये भारतीय नागरिकों को क्रमशः हिंडन और तांबरम के एयरबेस पर संगरोध सुविधाएं उपलब्ध कराई गयी है। कमांड हॉस्पिटल एयर फोर्स, बेंगलुरु में कोरोनावायरस परीक्षण प्रयोगशाला, पूर्ण रूप से कार्यरत है।

इस बीच, भारतीय वायुसेना के सभी ठिकानों पर वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए व्यापक उपाय किए गए हैं। भारत सरकार द्वारा निर्धारित दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन किया जा रहा है, ताकी भारतीय वायुसेना कोरोना महामारी से लड़ने के राष्ट्रीय प्रयास का समर्थन करने के लिए तैयार रहे। वायुसेना स्टेशन उनके पड़ोस में रहने वाले ज़रूरतमंदों को भोजन और हर प्रकार की सहायता मुहैया करा रहे हैं ।

0Shares
Total Page Visits: 289 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *