बेटी ने बढ़ाया मान ! जज बनकर मनीषा ने किया कमाल

जज बनकर मनीषा ने जनपद का मान बढ़ाया
– बाकरगंज की मनीषा साहू पीसीएस (जे) में चयनित

फतेहपुर। कौन कहता है कि कठिन परिश्रम और लगन से काम करने वालों को कामयाबी नहीं मिलती। ऐसा ही एक उदाहरण शहर के बाकरगंज मुहल्ले की मनीषा साहू नाम की बेटी ने पीसीएस-जे में चयनित होकर कर दिखाया है। पीसीएस (जे) में चयनित होने से मनीषा साहू ने अपने परिवार का ही नहीं बल्कि जनपद का नाम भी रोशन किया है। चयन होने के बाद अब मनीषा साहू एक साल की न्यायिक ट्रेनिंग का कार्यकाल पूरा करेंगी।
बताते चलें कि शहर के बाकरगंज मुहल्ला निवासी दिनेश चन्द्र साहू की सुपुत्री मनीषा साहू ने पीसीएस (जे) की परीक्षा में प्रतिभाग किया था। परिणाम आने पर उसका चयन कर लिया गया है। उसे 324 वीं रैंक हासिल हुयी है। पीसीएस (जे) में चयनित होने के बाद अब मनीषा बतौर सिविल जज जू0डि0 का प्रशिक्षण ग्रहण करेंगी। बेटी की ऊंची छलांग लगाने पर पिता दिनेश चन्द्र साहू, मां सुषमा साहू, भाई पंकज कुमार की खुशी का ठिकाना नहीं है। परिणाम आने पर परिवार वालों को बधाई देने के लिए लोगों का आने का सिलसिला शुरू हो गया। घर पर परिचितों ने मिष्ठान वितरण कर कामयाबी हासिल करने वाली जहां मनीषा का मुंह मीठा कराया वहीं घर पर आने वालों को भी मिष्ठान वितरित किया। बताते चलें कि जज बनने वाली मनीषा साहू के पिताश्री दिनेश चन्द्र साहू व्यवसायी हैं। उनका मुख्य व्यवसाय चक्की कारखाना है। मां गृहणी हैं। भाई पंकज कुमार नोएडा में साफ्टवेयर इंजीनियर है। बातचीत में जज बनी मनीषा के पिता ने बताया कि बेटी ने हाईस्कूल निरंकारी बालिका इण्टर कालेज, इण्टर चन्द्रा बालिका इण्टर कालेज, स्नातक इलाहाबाद विश्वविद्यालय, एलएलबी बनारस हिन्दू यूनीवर्सिटी व एलएलएम राम मनोहर लोहिया यूनीवर्सिटी लखनऊ से किया। सफलता के शिखर पर पहुंची मनीषा साहू ने विनम्र भाव से पत्रकारों को बताया कि उसकी सफलता में उनके मां-बाप, भाई व गुरूजनों का जहां महत्वपूर्ण रोल है वहीं उसकी मेहनत भी शामिल है। उन्होने बताया कि सफलता के ऊंचाई पर पहुंचने के लिए सभी को मेहनत करनी चाहिए कभी भी हिम्मत नहीं हारनी चाहिए। उनका कहना है कि बेटे व बेटियों में अन्तर नहीं करना चाहिए। क्योंकि बेटा व बेटी एक समान होते हैं। बेटी से दो परिवारों का भला होता है।

0Shares
Total Page Visits: 1665 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *