बिना लाइसेन्स दुकानों से दवा व बीज की हो रही बिक्री

 सार्थक परिणाम न मिलने से किसान परेशान
असली बताकर बेंच रहे नकली दवा, बीज में कमा रहे धन
फतेहपुर। जनपद में अनगिनत संख्या में खाद की दुकाने बिना लाइसेन्स के चल रही हैं। जहां मंहगे दामों पर बिक्री की जा रही है। यही नही उन खाद की दुकानों पर बीच भी उपलब्ध है। बिना लाइसेन्स के दवा बेंची जा रही है। खाद विक्रेता किसानों के हांथों नकली दवा, बीज बेंचकर धन कमाने मे लगा है। विक्रेताओं की पोल धीरे-धीरे किसान तो खोल रहा है। लेकिन प्रशासन की ओर से किसी तरह की कार्यवाही न होने से किसानों में नराजगी छायी है। किसानों का कहना है कि खाद विक्रेताओं की दुकानों पर छापेमारी नही होती है। यही वजह है कि बिना लाइसेन्स के विक्रेता दवा व बीज बेंचकर किसानों से मुनाफा कमा रहे हैं। बिना पढ़ा लिखा किसान विक्रेताओं की चापलूसी भरी बातों में आकर फंस जाता है और जब दवा, बीज का इस्तेमाल खेतों पर किया जाता है तो असली व नकली की पोल सामने खुलकर आ जाती है।
इन दिनों बिना लाइसेन्स के बीज व दवा बेंचने का धंधा खाद विक्रेता तेजी के साथ कर रहे हैं। विक्रेता किसानों से असली दवा और बीज देने के नाम पर अच्छी खासी रकम वसूल कर रहे हैं। जबकि असली बात तो यह है कि विक्रेता किसानों को अपनी चापलूस भरी बातां में फंसाकर नकली दवा बेंच रहे हैं। जब किसान खाद विक्रेताओं के यहां से खरीदी गयी दवा बीज का इस्तेमाल करते हैं तो उसके परिणाम सही न मिलने पर उनके इस गोरखधंधे का पर्दाफाश होता है। किसान ऐसे विक्रेताओं से सजक होकर भले ही बीज दवा न खरीदे लेकिन एक किसान तो बच जाता है लेकिन दूसरा किसान उसकी चपेट में आ जाता है। बिना लाइसेन्स के बीज व दवा विक्रेताओं के यहां प्रशासन की ओर से छानबीन की कार्यवाही न होने से किसानों में आक्रोश बना रहा है। किसानों का कहना है कि गाढ़ी कमाई से बीज व दवा की खरीददारी की जाती है। खेतों में दवा डालने पर उसके परिणाम सार्थक नही मिलते। ऐसे में जब विक्रेताओं के यहां शिकायत की जाती है तो विक्रेता कम्पनी को दोषी बताकर अपना पल्लू झाड़कर बाहर हो जाते हैं।

0Shares
Total Page Visits: 1498 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *