बहुजन क्रांति मोर्चा के पदाधिकारियों ने CAA का किया विरोध

अयोध्या बहुजन क्रांति मोर्चा के पदाधिकारियों ने सीएए का विरोध किया है।मोर्चा ने मामले में राष्ट्रपति से हस्तक्षेप की मांग की है।बहुजन क्रांति मोर्चा की और से भारत बंद का आह्वान किया गया है।अयोध्या के रुदौली और भदरसा क्षेत्र में कई दुकानें बंद कर विरोध दर्ज कराया गया है।राष्ट्रीय मुस्लिम मोर्चा के प्रदेश सचिव मुनव्वर हुसैन का कहना है कि मोर्चा एनपीआर और सीएए के विरोध का करता है. जिसको लेकर भारत बंद का आह्वान किया गया है. उन्होंने कहा कि सीएए संविधान की भूल भावना के विरुद्ध है।इसके द्वारा संविधान के आर्टिकल 15 और 14 का उल्लघंन हो रहा है. बहुजन क्रांति मोर्चा ने 5 सूत्री मांगों को माध्यम से अपना विरोध दर्ज कराया है. बहुजन क्रांति मोर्चा के आह्वान पर बुधवार को अयोध्या स्थित भदरसा और रुदौली के मुस्लिम क्षेत्रों में कई दुकानें बंद रहीं. वहीं मोर्चा के पदाधिकारियों का कहना है दुकानदारों ने यह विरोध स्वत: किया हैं।वही सिटी मजिस्ट्रेट सत्य प्रकाश ने बताया है कि बहुजन क्रांत मोर्चा ने राष्ट्रपति से नागरिकता संशोधन कानून वापस लेने की मांग की है. मोर्चा ने सीएए का विरोध, विरोध को लेकर निर्दोष लोगों पर दर्ज मुकदमें वापस लेने, धारा 144 का दुरुपयोग बंद करने, दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ जांच कराने और अयोध्या में 25 जनवरी को गिरफ्तार किए गए दीपक नारंग, उनके सहयोगियों को रिहा करने व उनके खिलाफ दर्ज मामले वापस लेने की मांग की है. बहुजन क्रांति मोर्चा के मांगों को ज्ञापन के माध्यम से स्वीकार किया गया है।सिटी मजिस्ट्रेट ने कहा है उनकी मांग को गंतव्य तक पहुंचा दिया जाएगा।

0Shares
Total Page Visits: 366 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *