बहराइच: नेपाल से आ रहा पानी‌ से नदिया ऊफान पर। खतरे को भापते हुये प्रशासन एलर्ट।

नेपाल से आ रहा पानी‌ से नदिया ऊफान पर। खतरे को भापते हुये प्रशासन एलर्ट।

खतरे के निशान के समीप ‌पहुंचा जल स्तर।

लगभग 33 हजार क्यूसिक पानी छोड़ा जा चुका है। 50 हजार क्यूसिक पानी छोड़े पर बन जाती है बाढ़ की स्थिति ।

नेपाल के पानी को यहा तक पहुंचने में लगता है 9 घंटे का समय।

सिचाई विभाग के जे०ई० व एसडीअो सरयू नदी पर स्थिती गोपिया बैराज पर डटे।।

एसडीएम मिहींपुरवा ने लेखपालो को जारी किया हाई अलर्ट।

मिहींपुरवा/बहराइच- पिछले दो दिनो से हो रही भारी‌ बारिश का असर बुधवार को तराई क्षेत्र की नदियों में देखने को मिला। नेपाल के पहाड़ी क्षेत्रो से बहकर नदियों में आये पानी से सरयू नदी ऊफान पर है।
बुधवार को नदियों के बढ़ते जलस्तर से प्रशासन भी सजग हो गया है सिंचाई विभाग के अधिकारियों समेत तहसील के उच्च अधिकारियों ने सरयू नदी के तट व गोपिया बैराज का भ्रमण जारी कर दिया है।
फिलहाल अभी क्षेत्र में बाढ़ जैसे हालात नही है किंतु नदियों के बढ़ रहे जलस्तर से प्रशासन की पेशानी पर बल पैदा कर सकता है।

*तेजी से बढ़ रहा पानी खतरे के निशान के समीप पहुंचा नदियो का जलस्तर*

तहसील मिहींपुरवा के गोपिया बैराज पर नदी का जल स्तर तेजी से बढ़ रहा है। जल स्तर बढ़ने व तेज बहाव के कारण नदी के तट पर कटान का खतरा भी बढ़ गया है। बुधवार को सरयू नदी का बहाव तेज होने के साथ ‌साथ नदी खतरे के निशान के करीब पहुंच गयी।
गोपिया बैराज पर खतरे का निशान 133.50 है। बुधवार को नदी का जल स्तर ‌खतरे के निशान के समीप 132.950 पर पहुंच गया। नदी के बढ़ रहे जलस्तर व नदी के बहाव को देखते हुये सिंचाई विभाग व तहसील के अधिकारियो ने गोपिया बैराज पर पहुंच स्थिति पर नज़र जमाये हुये है।

*गोपिया बैराज से अबतक 33 हजार क्यूसिक पानी छोड़ा जा चुका है 50 हजार क्यूसिक पानी पर बन जाती है बाढ़ की स्थिति।*

सिचाई विभाग के एसडीअो एन राम व जे०ई० रामनरेश रावत ने सरयू नदी से जुड़े सभी बंधो‌ का निरीक्षण करते हुये बाढ़ की स्थिति का मुआयना किया।
सिचाई विभाग के एसडीअो एन राम ने बताया कि अब तक गोपिया बैराज से लगभग 33 हजार क्यूसिक पानी छोड़ा जा चुका है उन्होने बताया कि 50 हजार क्यूसिक पानी छोड़े पर क्षेत्र में बाढ़ की स्थिति बन जाती है। उन्होने बताया कि पहाड़ो पर काफी बारिश हुई ‌है जिसके कारण नेपाल की भादा नदी से काफी मात्रा में पानी यहां कि नदियो में आ रहा है।
सिचाई विभाग के जे०ई० रामनरेश रावत ने बताया कि नदियो का जलस्तर बढ़ रहा है जलस्तर के बढ़ने पर बैराज के सभी तावो को खोल कर पानी छोड़ा जा रहा है। उन्होने बताया कि नेपाल से पानी को यहा तक पहुंचने मे 9 घंटे का समय लगता‌ है बीती रात पहाड़ो पर हुई बारिश का असर इस समय यहा‌ कि नदियो पर दिखाई दे रहा‌ है यदि दिन में पहाड़ो पर बारिश न हो स्थिति ‌सामान्य हो जायेगी।

*एसडीएम मिहींपुरवा ने लेखपालो व कानूनगो को जारी किया हाई अलर्ट।*

बाढ़ की स्थिति को देखते हुए उपजिलाधिकारी मिहींपुरवा बाबूराम ने लेखपालों व कानूनगो को हाई अलर्ट जारी करते हुए मुस्तैदी के साथ क्षेत्र में जमे रहने को कहा है एसडीएम ने कहा कि बाढ़ की आशंका को देखते हुए पहले से ही बाढ़ चौकियां तैयार कर रखी गई है सभी बाढ़ चौकियों पर प्रभारी नियुक्त किए गए हैं जिनकी जिम्मेदारी आपदा के समय राहत कार्यों को सुचारु रुप से संपादित करने की है इसी के साथ क्षेत्र में लेखपालों को आपदा का वीडियो बना कर तुरंत प्रशासन को सूचित करने के निर्देश भी दिए गए हैं उन्होंने बताया कि अभी क्षेत्र में बाढ़ जैसी कोई स्थिति नहीं है सिर्फ आशंका के मद्देनजर सभी तैयारियां पूरी कर रखी है

0Shares
Total Page Visits: 1710 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *