बलिया जिला अस्पताल में निरीक्षण के दौरान मचा हड़कंप

बलिया जिला अस्पताल में भाजपा जिला अध्यक्ष पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर की पत्नी की पुण्यतिथि पर फल वितरण करने गए थे जहां मरीजों और तीमारदारों ने अस्पताल की अव्यवस्था की उनसे शिकायत की जिसके बाद भाजपा जिला अध्यक्ष का पारा चढ़ गया और उन्होंने सीएमएस को जमकर फटकार लगाई और जिला प्रशासन को इसकी सूचना दी सूचना पाकर मौके पर एडीएम रामाश्रय भी पहुंचे और सीएमओ भी इसके बाद सभी ने अस्पताल का बारीकी से निरीक्षण किया जहां पंखों के बंद मिलने और गंदगी का अंबार उन्हें मिला इतना ही नहीं अस्पताल के चिकित्सकों द्वारा बाहर की दवाई लिखने की साक्षी भाजपा अध्यक्ष और जिला प्रशासन के अधिकारियों को प्राप्त हुए इसके बाद सीएमओ ने कहा कि पूरे मामले की जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी वहीं भाजपा जिलाध्यक्ष ने इस प्रकरण को लेकर मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री से शिकायत करने की बात कही है।
दरअसल जिला चिकित्सालय में इस तरह का प्रकरण कोई नया नही है। जिला चिकित्सालय में मरीज किस तरह अपना इलाज कराते है इसका तो भगवान ही मालिक है। भाजपा के जिला अध्यक्ष, सदर एडीएम, सीएमओ, सीएमएस जब अस्पताल के अंदर सभी के सभी वार्डो का निरीक्षण किया और वही मरीजो से बात किया तो एक बाद एक जिला चिकित्सालय की मनमानी का पोल अधिकारियों के सामने खुलने लगा। सीएमओ बलिया ने चिकित्सालय में इलाज और सुविधाओं का दन्त झेल रहे एक-एक मरीजो से उनका हाल जानते हुए उनकी शिकायत को स्वयं एक डायरी पर नोट करते नजर आए। वही बाकी वार्डो में मरीजो का बेड जो हफ़्तों से बदला नही गया था उन्हें चुपके से वार्ड ब्वाय द्वारा बदलने की कवायत शुरू हो गयी। आप को बताते चले की किसी प्रतिनिधि और अधिकारियों के द्वारा चिकित्सालय का निरीक्षण कर चिकित्सालय के व्यवस्था को सुधारने का आश्वासन मिल ही जाता है। जिले से लेकर अन्य जनपदों के प्रतिनिधि और अधिकारियों के द्वारा यहां निरीक्षण होता रहता है जो आज इस पूरे प्रकरण में आप को ये जरूर समझ आ जयेगा की वो सभी निरीक्षण महज एक खाना पूर्ति है। इस बाबत जब मीडिया ने भाजपा के जिला अध्यक्ष से सवाल किया तो सिमसीमाते हुए बोले देखिए निरीक्षण किये होंगे, कार्रवाई भी कुछ हुई होगी वही इस बात को माना कि तमाम निरीक्षण के बाद चिकित्सालय की व्यवस्था ठीक नही है। कहा इसमे जिसकी भी भूमिका होगी इस पर कठोर से कठोर कार्रवाई होगी, यह कुरकृत माफ् करने के योग्य नही है। अधिकारियों के द्वारा अस्पताल में अनियमितता होना और चिकित्सालय में भ्रष्टाचार पर बोले मैं ऐसा नही मानता हो सकता है कि कुछ दिनों पहले ये ठीक किये होंगे।
अब सवाल ये उठता है कि जब भाजपा के जिला अध्यक्ष ने इसका निरीक्षण किया तो उन्हें काफी दुख पहुंचा वही यूपी में वर्तमान सरकार भी भाजपा की है और भाजपा भ्रष्टाचार खत्म कर जीरो टॉलरेंस की बात कर रही है फिर जिला चिकित्सालय में तमाम सुविधाएं किसके भेट चढ़ गई? चिकित्सालय का दावा है की दवाई है पर बाहर मिलेगा, चादर है लेकिन हफ़्तों बाद मिलेगा, पंखा है पर नही चलेगा, इलाज होगा लेकिन डॉक्टर नही है, मरीजो के लिए सब सुविधाएं है लेकिन सब भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ेगा जो आज भी मरीजो को ये दिन देखना पड़ रहा है। चिकित्सालय में मरीज इलाज के लिए आते है पर यहाँ तो पूरा चिकित्सालय ही बीमार दिख रहा है जिसे सुविधाओं के साथ-साथ एक अच्छे इलाज की दरकार है।
0Shares
Total Page Visits: 1769 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *