बम-बम भोले के जयकारों से गुंजाएमान रहा सिद्धपीठ ताम्बेश्वर मंदिर

बम-बम भोले के जयकारों से गुंजाएमान रहा सिद्धपीठ ताम्बेश्वर मंदिर
– कांवरियों के जत्थों ने चढ़ाया गंगाजल, श्रद्धालुओं ने की पूजा-अर्चना
– केन्द्रीय राज्यमंत्री साध्वी ने मंदिर में टेका माथा
– सुरक्षा व्यवस्था की दृष्टि से चप्पे-चप्पे पर मुस्तैद रहा पुलिस बल
में लगी भक्तों की लाइन।
फतेहपुर। महाशिवरात्रि का पर्व इस वर्ष धूमधाम से मनाया गया। जिले के सभी शिवालयों में भक्तों की भीड़ उमड़ी। श्रद्धालुओं का तांता देर रात से ही सिद्धपीठ के मुख्य द्वार पर लग गया था। सिद्धपीठ में आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा व्यवस्था के लिए भी पुलिस ने पुख्ता इंतेजाम किये थे। महिला पुलिस के साथ-साथ पीएसी और पुलिस के जवान सिद्धपीठ परिसर के चप्पे-चप्पे पर मुस्तैद रहे। सिद्धपीठ ताम्बेश्वर धाम में विराजमान भगवान शिव के दर्शन का सिलसिला देर रात तक चलता रहा। कांवरियों का जत्था भी बराबर आता रहा और उन्हें शिव दर्शन कराने के लिए मौके पर मौजूद पुलिस महकमे के जवान लगे रहे। दूध, गंगाजल, मेवा, मिष्ठान के साथ फूलों के श्रृंगार से भगवान शिव का पूजा-अर्चना का सिलसिला बराबर जारी रहा। मंदिर परिसर पर भजन-कीर्तन कर श्रद्धालुओं ने भगवान शिव को मनाने का पूरा प्रयास किया। अपनी-अपनी मन्नत पूर्ति के लिए श्रद्धालुओं ने परिक्रमा भी लगायी। उधर केन्द्रीय राज्यमंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने भी ताम्बेश्वर मंदिर पहुंचकर शिवलिंग की पूजा-अर्चना कर माथा टेका।
हर वर्ष की भांति फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चर्तुदशी तिथि को मनाये जाने वाला महाशिवरात्रि पर्व का नजारा बहुत ही अजीबो गरीब रहा। सिद्धपीठ ताम्बेश्वर धाम समेत अन्य स्थानों में विराजमान शिवलिंगों की पूजा की गयी। सिद्धपीठ ताम्बेश्वर में कुंभ जैसा माहौल रहा। श्रद्धालुआें की भीड़ अनन्त रही। जिसकी गणना नहीं की जा सकती थी। भगवान शिव के दर्शन के लिए कांवरिया, श्रद्धालुओं एवं परिक्रमा लगाने वाले भक्तों की भीड़ देर रात से ही सिद्धपीठ के मुख्य द्वार पर जमा होने लगी। महाशिवरात्रि के महापर्व के पूर्व ही पुलिस ने मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था के साथ ही आने वाले श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए तैयारियां कर ली थीं। प्रशासनिक तैयारियों के मुताबिक बनाये गये प्वाइंटों में महिला पुलिस कर्मियों के साथ-साथ पीएसी और पुलिस के जवान मुस्तैद रहे। मंदिर के मुख्य द्वार से लेकर भगवान शिव के शिवलिंग और मंदिर परिसर से आधा किलोमीटर के दोनों छोरों पर पुलिस की चौक-चौबंद व्यवस्था नजर आयी। मंदिर के अन्दर दाखिल होने वाले श्रद्धालुओं पर पुलिस की बराबर निगाहें बनी रहीं। मंदिर के अन्दर दाखिल होने वाले श्रद्धालुओं को भी पुलिस के अफसरों से ज्यादा वक्त नहीं दिया। दर्शन और दर्शन के बाद श्रद्धालुओं को बाहर करने का सिलसिला जारी रहा। रात तीन बजे से सिद्धपीठ का मुख्य द्वार खुला और देर रात बारह बजे तक श्रद्धालु भगवान शिव को मनाने के लिए गंगाजल के साथ दूध, मेवा, मिष्ठान, दही, बेलपत्र और दही का भोग लगाकर अपनी मनोकामनाएं रखी। वहीं महिला मण्डल की ओर से भजन-कीर्तन का भी आयोजन किया गया। जय बम भोले की गूंज से सिद्धपीठ का परिसर पूरी तरह से गुंजाएमान रहा। जनपद ही नहीं बल्कि गैर जनपदों से भी श्रद्धालुओं के आने जाने का तांता लगा रहा। महाशिवरात्रि के पर्व पर जहां श्रद्धालुओं ने भगवान शिव के दर्शन किये। हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी मंदिर परिसर के बाहर मेले का आयोजन किया गया। जहां नन्हे-मुन्ने बच्चों व महिलाओं सहित युवक युवतियों ने मेले का जमकर आनन्द लिया। मेले में आये श्रद्धालुओं ने जहां बच्चों के लिए खेल खिलौने खरीदे तो महिलाओं ने घरेलू सामान की खरीददारी की। मंदिर परिसर में भक्तों ने प्रसाद वितरण के स्टाल भी लगाये। जिसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के बीच भण्डारे का प्रसाद वितरित किया गया।

सफाई व्यवस्था दुरूस्त न होने से भक्तों में रहा रोष
फतेहपुर। महाशिवरात्रि पर्व को लेकर पीस कमेटी की बैठक में जिलाधिकारी संजीव सिंह ने अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका को निर्देश दिये थे कि पर्व से पहले ताम्बेश्वर मंदिर के मुख्य मार्ग के साथ-साथ मंदिर के आस-पास बेहतर ढंग से साफ-सफाई करवा दी जाये जिससे भक्तों को मंदिर आने में दिक्कतों का सामना न करना पड़े। बताते चलें कि इन दिनों ताम्बेश्वर रोड पर नगर पालिका परिषद द्वारा डिवाइडर कार्य का निर्माण कराया जा रहा है। जिससे सड़क पर गिट्टी के साथ-साथ गंदगी फैली हुयी है। नगर पालिका प्रशासन की उपेक्षा के चलते इस मार्ग की सफाई नहीं करवायी गयी। जिससे परिक्रमा करके मंदिर जाने वाले भक्तों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। गिट्टी के कारण भक्तों को बेहद कठिनाई हुयी। भक्तों का कहना रहा कि नगर पालिका प्रशासन की उपेक्षा के चलते साफ-सफाई नहीं हुयी है। जबकि नगर पालिका में सफाई कर्मियों की लम्बी चौड़ी गैंग है। कहा कि इस मामले में जिलाधिकारी को कार्रवाई सुनिश्चित करनी चाहिए।

0Shares
Total Page Visits: 320 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *