प्रियंका वाड्रा की गिरफ्तारी से कांग्रेसियों में उबाल

मोदी के खिलाफ नारेबाजी कर राज्यपाल को भेजा ज्ञापन
कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन करते कांग्रेसी।
फतेहपुर। तीन दिन पूर्व सोनभद्र जनपद में जमीनी विवाद को लेकर दस लोगों की हत्या के मामले में परिवारीजनों को शोक संवेदना व्यक्त करने जा रही पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी एवं कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को प्रदेश सरकार के इशारे पर गिरफ्तार कर लिये जाने से जिले के कांग्रेसियों में उबाल आ गया। आनन-फानन में बड़ी संख्या में कांग्रेसी कलेक्ट्रेट पहुंचे और मोदी व योगी के खिलाफ नारेबाजी करते हुए राज्यपाल को ज्ञापन भेजा है। जिसमें प्रियंका गांधी की तत्काल रिहाई के साथ ही पीड़ित परिवारीजनों को मुआवजा दिये जाने की मांग की गयी है। प्रदर्शनकारी कांग्रेसियों ने राज्यपाल से योगी सरकार को बर्खास्त करने की भी मांग की है।
जिले में प्रियंका गांधी को गिरफ्तार किये जाने की जानकारी मिलते ही कांग्रेसियों में आक्रोश फैल गया। आनन-फानन में जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अखिलेश पाण्डेय व शहर कमेटी के पदाधिकारियों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी को प्रदेश व केन्द्र सरकार की तानाशाही बताया। पूर्व विधायक एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता पं0 प्रेमदत्त तिवारी ने कहा कि दस लोगों की हत्या के बाद प्रियंका गांधी पीड़ितजनों का हालचाल व उन्हें ढाढंस बंधाने के लिए शुक्रवार को सोनभद्र जनपद जा रही थीं तभी विधि विरूद्ध ढंग से उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी से कांग्रेसियों में उबाल है। जिलाध्यक्ष अखिलेश पाण्डेय ने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार अपराध रोकने में नाकाम है। दस आदिवासी कोल बिरादरी के लोगों की हत्या के लिए सीधे तौर पर योगी सरकार जिम्मेदार है। उन्होने कहा कि हत्या से पहले पचास ट्रैक्टरों में लाठी-डण्डे से लैस एकजुट होकर जा रहे थे। जिन्हें योगी की पुलिस ने रोकने के बजाये उन्हें घटना को अंजाम देने का मौका दिया। उन्होने राज्यपाल से मांग की है कि प्रियंका गांधी को पीड़ितजनों से मिलने की अनुमति प्रदान की जाये। राज्यपाल को भेजे गये ज्ञापन में मांग की गयी है कि प्रियंका गांधी को तत्काल बिना शर्त रिहा किया जाये। पीड़ित पक्ष को न्याय दिलाने के साथ ही प्रत्येक परिवार को मुआवजा दिया जाये। अंत में चेतावनी दी गयी कि यदि प्रभावी कार्रवाई नहीं हुयी तो कांग्रेसजन बड़े आन्दोलन को बाध्य होंगे। जिसकी जिम्मेदारी प्रदेश सरकार की होगी। इस मौके पर राजकुमार मौर्य एडवोकेट, महेश द्विवेदी, शिवाकांत तिवारी, निर्मल तिवारी, संतोष कुमारी शुक्ला, पंकज सिंह गौतम, शादाब अहमद, एमएल श्रीवास, नसीम सिद्दीकी, राजन तिवारी, प्रभात शुक्ला, मनीष पटेल, अशोक दुबे, वीरेन्द्र गुप्ता, बब्लू कालिया, पंकज द्विवेदी, मोनू सिंह, बृजेश मिश्रा, आदित्य श्रीवास्तव सहित बड़ी संख्या में कांग्रेसी मौजूद रहे।

0Shares
Total Page Visits: 1393 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *