प्रधान व सचिव के भ्रष्टाचार के खिलाफ ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

 डीएम को सौंपी भ्रष्टाचार की लिस्ट
कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन करते गंगौली के बाशिन्दे
फतेहपुर। अमौली विकास खण्ड की ग्राम सभा गंगौली के प्रधान व सचिव के भ्रष्टाचार से नाराज ग्रामीण कलेक्ट्रेट पहुंचे और प्रदर्शन करते हुए जिलाधिकारी को एक ज्ञापन सौंपकर भ्रष्टाचार की पोल खोलते हुए प्रधान व सचिव के खिलाफ कार्रवाई किये जाने की मांग उठायी।
जिलाधिकारी को दिये गये ज्ञापन में ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम प्रधान, ग्राम पंचायत अधिकारी व विकास खण्ड अधिकारी की मिलीभगत द्वारा करोड़ों की सरकारी खजाने को क्षति पहुंचायी जा रही है। जिसकी शिकायत प्रधानमंत्री, राज्यपाल व मुख्यमंत्री के अलावा स्थानीय जनपदीय अधिकारियों से कई बार की गयी। लेकिन राजनीति के चलते आज तक इन पर कोई कार्रवाई नहीं की गयी। बताया कि ग्राम सभा में हद से ज्यादा भ्रष्टाचार हो रहा है। पूरे ग्राम सभा में कोई कार्य पूर्ण व सही नहीं है। जबकि कुछ कार्य केवल कागज पर ही हुए हैं। लेकिन वर्तमान में मौके पर कोई कार्य नहीं कराया गया। बताया कि ग्राम प्रधान व ग्राम पंचायत अधिकारी अमित कुमार सोनकर द्वारा पैसा निकाला गया है। सभी ग्रामीणों ने दावा किया कि अगर एक-एक कार्य का हिसाब बताया जाये तो शायद बीस प्रतिशत ही कार्य हुए होंगे। बाकी के कार्यों का पैसा व कार्य प्रधान व सचिव के रजिस्टर व जेब में दर्ज है। ग्रामीणों ने जिलाधिकारी ने मांग किया कि खुली जांच कराकर भ्रष्टाचार में लिप्त प्रधान व सचिव के खिलाफ कार्रवाई की जाये। ग्रामीणों ने 2015 से 2020 में हुए भ्रष्टाचार की लिस्ट भी जिलाधिकारी को सौंपी है। इस मौके पर विमलेश कुमार, सुरेन्द्र कुमार, केवली सोनकर, रघुराज, ज्ञान सिंह, धुनारी, जगदीश पासवान, सोनू सोनकर, राम आसरे प्रजापति, जितेन्द्र कोरी, मन्नू देवी, सतीश, महावीर, जगदीश आदि मौजूद रहे।

0Shares
Total Page Visits: 470 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *