पंडित राधेश्याम दूबे की तीसरी पुण्यतिथि पर साधु संतों का जमावड़ा …

आजमगढ। पंडित राधेश्याम दूबे की तीसरी पुण्यतिथि पर साधु संतों का जमावड़ा रहा। शेरपुर कुटी के महंत श्री श्री 1008 श्रीरामकृष्ण दास व चंद्रमा ऋषि आश्रम के महंत श्री श्री 1008 बम बम गिरी जी महराज ने दीप प्रज्जवलन व स्व0 दूबे के चित्र पर पुष्प अर्पित कर कार्यक्रम का शुरूआत किया। जाफरपुर स्थित उनके आवास पर आयोजित भव्य कार्यक्रम का संचालन पंडित सुभाष चन्द्र तिवारी कुन्दन ने किया।
स्व0 दूबे के पुत्र भाजपा नेता व अखिल भारतवर्षीय ब्राह्मण महासभा के युवा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष पंडित बृजेश दूबे ने उपस्थित साधु संतों का माल्यार्पण कर अंगवस्त्र दान किया। इस दौरान श्री दूबे ने कहाकि माता पिता ही मनुष्य के प्रथम पूज्य देव है। इनकी सेवा करना हमारा परम कर्तव्य है।
राष्ट्रीय मानस प्रवक्ता गोविन्द शास़्त्री ने कहाकि स्व दूबे एक कर्मठ, धार्मिक एवं समाजसेवी थे। दीन दुखियों के प्रति सदैव उनके अन्दर प्यार रहता था एवं उनकी सेवा में सदैव तत्पर रहते थे। स्व दूबे सौभाग्यशाली है कि बृजेश दूबे जैसा सुयोग्य पुत्र मिला है। जो अपने माता पिता को देवतुल्य समझते हुए उनके पुण्यतिथि को भव्यता के साथ मना रहे है। आज के इस परिवेश में लोगों को श्री दूबे से सीख लेने की आवश्यकता है।
इस मौके पर भंडारे का भी आयोजन किया गया। जिसमें आचार्य राजेश पाठक, बाबा बालक दास, शंभू नाथ दास, दशरथ राय रथेस, पंडित सौरभ उपाध्याय, प्रभुनाथ, विनीत दूबे, सुनीता, अखिलेश उपाध्याय सहित सैकड़ों की संख्या में साधु ंसंत व स्थानीय लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया।
0Shares
Total Page Visits: 6818 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *