देश को बांटने का काम कर रही मोदी सरकार-राकेश सचान

युवाओं को रोजगार न देकर अंधकार की ओर ढकेलने का हो रहा काम
 किसानों की हालत दिनों दिन हो रही बदतर
 पत्रकारों से बातचीत करते कांग्रेस के प्रदेश महासचिव राकेश सचान
खागा-फतेहपुर। कांग्रेस पार्टी के प्रदेश महासचिव एवं पूर्व सांसद राकेश सचान ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की केन्द्र सरकार की शाख दिनों दिन गिरती जा रही है। मोदी सरकार देश को बांटने का काम कर रही हैं। देश में भ्रष्टाचार, महंगाई, बेरोजगारी की बाढ़ आ गयी है। युवाओं को रोजगार न देकर अंधकार की ओर ढकेलने का काम किया जा रहा है। किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य नहीं दिया जा रहा है। इन जनहित के मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए ही सीएए, एनपीआर व एनआरसी जैसे कानून लाने का प्रयास हो रहा है।
रविवार को खागा कस्बा पहुंचे पूर्व सांसद एवं कांग्रेस पार्टी के प्रदेश महासचिव राकेश सचान ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि मोदी सरकार सीएए, एनपीआर व एनआरसी जैसे काले कानून लाकर अपनी नाकामियों को छिपाने का काम कर रही है। मोदी सरकार देश को बांटने का प्रयास कर रही है। जबकि वर्तमान समय में देश की अर्थव्यवस्था बेहद डगमगाई हुयी है। देश का कर्णधार कहे जाने वाला युवा आज बेरोजगारी का दंश झेल रहा है। भाजपा के पिछले पांच वर्ष व इस बार के कार्यकाल में युवाओं को रोजगार नहीं दिया गया। जिससे युवाओं का भविष्य अंधकार की ओर जा रहा है। महंगाई दिनों दिन बढ़ती चली जा रही है। खाद्य पदार्थों के साथ-साथ पेट्रोलियम व गैस पदार्थों में दिनों दिन मूल्य वृद्धि हो रही है। जिसकी मार जनता को झेलनी पड़ रही है। किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य नहीं दिया जा रहा है। जिससे उनकी हालत दिनों दिन बदतर हो रही है। श्री सचान ने कहा कि देश के हालातों को सुधारने के बजाये मोदी सरकार देश को बांटने में लगी हुयी है। पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए श्री सचान ने कहा कि केन्द्र सरकार को किसी राज्य की सरकार भंग करने का अधिकार है। लेकिन विशेष परिस्थितियों में ही यह धाराएं इस्तेमाल की जाती हैं। उन्होने कहा कि भाजपा सांसद द्वारा दिया गया बयान बेहद बचकाना है। सत्रह राज्यों की सरकारों ने सीएए को अपने राज्य में लागू न करने का निर्णय लिया है। यदि केन्द्र सरकार ने किसी भी सरकार को भंग करने का प्रयास किया तो न्याय पालिका का भी रास्ता है। उन्होने कहा कि पीएम मोदी व गृहमंत्री अमित शाह काले कानूनों के दम पर ही लोगों का विकास से ध्यान भटकाना चाह रहे हैं। लेकिन उनके इन प्रयासों को सफल नहीं होने दिया जायेगा। इस मौके पर विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी ओम प्रकाश गिहार, प्रकाश पाण्डेय, इसराइल फारूकी, अन्नू कटियार, राजू सिंह, अनूप कौशल आदि मौजूद रहे।

0Shares
Total Page Visits: 695 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *