दिव्यांगों की समस्याएं प्राथमिकता से हल करें अधिकारी- जिलाधिकारी

शासनादेश के मुताबिक नौकरी में वरीयता दें विभाग-जनसेवक
 बैठक में भाग लेते डीएम व पूर्व मंत्री अमरजीत सिंह जनसेवक
फतेहपुर। जिलाधिकारी संजीव सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट महात्मा गांधी सभागार में जिला दिव्यांग बन्धु की बैठक सम्पन्न हुई। उन्होने कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप दिव्यांगों को लाभान्वित किया जा रहा है, चुनाव के दौरान विद्यालयों में रैम्प, पानी पीने की व्यवस्था एवं ट्राईसाइकिल एक सहायक की व्यवस्था की गयी ब्लाक/तहसीलों में दिव्यांगजनो के छः सौ आवेदन फार्म भरवाये गये है यदि अभी छूटे हुए है तो वह अपना आवेदन फार्म भरें। आयेजित सम्मपूर्ण समाधान दिवस में प्रमाण पत्र जारी किये जाते है जिन दिव्यांगों का प्रमाण पत्र जारी नही हुआ है वह बनवा ले और योजनाओं का लाभ लें। महात्मा गांधी जूनियर हाईस्कूल खेलदार में मूक बाधिर बच्चों को शिक्षा दी जा रही है यदि कोई ऐसा बच्चा हो तो दाखिला करा दें। आप यूआइडी नम्बर जारी करा दें ताकि यात्राओं में दिक्कते न हो। दिव्यांगता अभिशाप नही है। दिव्यांगों में बहुत अधिक क्षमता होती है इसलिये दिव्यांग नाम दिया गया है व्यक्ति दिव्यांग जन्म से या जन्म के बाद हो सकता है। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह में अभी तक दो आवेदन प्राप्त हुए है। इच्छुक दिव्यांग व्यक्ति इस योजना का लाभ लेने के लिये खंड विकास अधिकारी से सम्पर्क करके फार्म भरें। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री आवास की किस्त सीधे लाभार्थी के खाते में भेजी जाती है किसी को पैसा देने की आवश्यकता नही है बैंक से पैसा निकालकर आवास को पूर्ण करें। वर्ष 2011 की जनगणना में जिनका नाम सूची में है उन्ही को प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के तहत गोल्डेन कार्ड जारी किये जा रहे है। जनसेवक अमरजीत सिंह ने कहा कि दिव्यांग बन्धुओं की बैठक हर तीन माह में जिला प्रशासन द्वारा आयोजित की जायेगी। जिसमें दिव्यांग अपनी समस्याओं को बतायेंगे ताकि निदान हो सकें। उन्होने कहा कि 40 प्रतिशत से ऊपर दिव्यांगता होने पर प्रमाण पत्र जारी कराकर योजनाओं का लाभ लें तथा 80 प्रतिशत से ऊपर दिव्यांग का प्रमाण पत्र होने पर एक व्यक्ति साथ में निशुल्क यात्रा कर सकता है। उन्होने कहा कि जिला पूर्ति अधिकारी, शिक्षा विभाग शासनदेश के अनुसार अपने विभाग में वरीयता के आधार पर नियुक्ति करें व कोटा भी आवंटित किया जाये। बैठक में चौडगरा में स्थाई बस स्टाप की मांग के साथ ही आवास नीति में दिव्यांगों को तरजीह दिये जाने की भी मांग की गयी। बैठक में राजस्व, शिक्षा के साथ पुलिस, परिवहन, खाद्य विभाग आदि मांगों का समाधान जिलाधिकारी द्वारा किया गया। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक रमेश, मुख्य विकास अधिकारी चांदनी सिंह, एसीएमओ, बीएसए, डीएसओ, डीपीआरओ, जिला दिव्यांगजन अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी, एलडीएम, पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी सहित चन्द्रशेखर आजाद दिव्यांग सहायता समिति की ओर से जितेन्द्र सिंह गौर, मनोज द्विवेदी, विनोद दुबे, श्रवण यादव, कमलेश सिंह चौहान, छोटेलाल, रोहित त्रिवेदी आदि भी उपस्थित रहें।

0Shares
Total Page Visits: - Today Page Visits:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *