दबंगो से आहत युवती ने एसपी से लगायी न्याय की गुहार

पीडिता ने पुलिस पर लगाया आरोपियो को बचाने का आरोप
 एसपी से मिलने के लिये खडे पीडित लोग
फतेहपुर। मामूली सी बात पर महिला और उसके परिवार के अन्य सदस्यो को दबंगो द्वारा की गयी बेरहमी से पिटाई पर पुलिस ने अपनी हरकतो से बाज न आते हुये आरोपियो को बचाने के लिये कई बार पीडिता की तहरीर को बदलकर मन माफिक तरीके से लिखाकर आरोपियो को बचाने में जुटी है। जिसके चलते अब तक आरोपियो की गिरफ्तारी नही की गयी जिससे क्षुब्ध होकर पीडिता ने सम्पूर्ण समाधान दिवस में पहुचकर जिलाधिकारी के समक्ष पुलिस अधीक्षक से न्याय दिलाये जाने की गुहार लगायी हैं।
बताते चले की असोथर थाना क्षेत्र के ग्राम मैका का डेरा में दो मार्च की रात को गांव में ही एक समारोह में रंगारंग कार्यक्रम चल रहा था जिसमें उक्त गांव निवासिनी कुमारी राधा देवी निषाद पुत्री दिरपाल परिवार के अन्य सदस्यो के साथ गयी थी। जहा कुछ लोग छेडछाड करने लगे जिसका विरोध करने पर राधा देवी निषाद को चार लाइसेन्सी असलहाधारी गेदालाल, अवधेश पुत्र गरीबदास, अर्जुन पुत्र लालजी व भोला ने उसे मारने पीटने लगे। यहा तक की दबंगो ने पीडित युवती को बदूको की बाट से पीटा। जिससे उसके शरीर में कई गम्भीर चोटे आ गयी। घटना की सूचना पीडिता द्वारा पुलिस को दी गयी। पुलिस मौके पर पहुचकर एक बदूंक व कारतूस के साथ एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया लेकिन पुलिस आरोपियो को बचाने में जुट गयी। जिसके तहत पीडिता के भतीजे व भाई के साथ आरोपियो को 151 में चालान कर मामले को खत्म करने का कार्य किया गया। लेकिन पीडित युवती से असलहो से की गयी पिटाई एवं गम्भीर चोट का मुकदमा नही दर्ज किया गया। मंगलवार को पीडिता राधा देवी ने पुलिस अधीक्षक प्रशान्त वर्मा को शिकायती पत्र देते हुये अवगत कराया कि घटना के बाद कई दिनो तक उसका मुकदमा दर्ज नही किया गया और जो तहरीर उसके द्वारा दी गयी उसे बदलकर तीन बार तहरीर को वापस कर मनमाफिक तहरीर के आधार पर आरोपियो के खिलाफ हल्का सिपाही मणि त्रिपाठी द्वारा दर्ज किया गयां। पीडिता ने यह भी आरोप लगाया कि पुलिस सभी आरोपियो को बचाने में लगी है। जितने असलहा उसको पीटने में थे उनमें सिर्फ एक ही बन्दूक को कब्जे में लिया है। बाकी तीन अन्य असलहा धारी पर किसी तरह की कोई कार्रवाई नही की जा रही है। साथ ही आरोपियो द्वारा मामले को रफा-दफा करने की धमकी दी जा रही है जिससे उसे व उसके परिवार को जान का खतरा बना हुआ है। पीडिता ने पुलिस अधीक्षक से गुहार लगाते हुये यह भी कहा कि आरोपियो को जल्द गिरफ्तारी न की गयी तो कोई भी बडी घटना उस पर घटित हो सकती हैं।

0Shares
Total Page Visits: - Today Page Visits:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *