ठंड से कंपकपा उठा जनजीवन, कोहरे व धुंध ने छीन ली रफ्तार

अलाव बने गरीबो के सहारा, रैन बसेरो में ले रहे पनाह
 ठण्ड से बचने के लिए अलाव का सहारा लेते लोग
फतेहपुर। कंपकपा देने वाली सर्दियों से लोगो को रहत मिलती नही दिखाई दे रही। ठंड के प्रकोप ने लोगो को झकझोर कर रख दिया है। शीतलहर के कारण ठंड का प्रकोप उफान पर है और लोगो को घरों में दुबकने पर मजबूर कर दिया। कई दिनों से सूरज की लुकाछिपी का खेल मंगलवार को भी जारी रहा। जहां लोगो को दिनभर सूर्य देवता के दर्शन न होने से हाडकंपाऊ ठंड से जूझना पड़ा और पूरे दिन घना कोहरा छाया रहा। घर से निकलने वाले लोग स्वेटर, जैकट पहनने के बाद भी शीतलहर के कारण सर्दी की मार से बेहाल दिखाई दिये। स्कूलों में छुट्टी होने से बच्चो को जहाँ राहत मिली जबकि रोजमर्रा के काम करने वालो के अलावा सड़को से आम दिनों में दिखाई देने वाली भीड़ नदारत रही। सड़को पर दो पहिया व चार पहिया वाहनो की संख्या भी रोज की अपेक्षा कम ही रही। बर्फीली हवाओ सर्दी से बचने के लिये लोग घरों में ही दुबके रहे और रूम हीटर, ब्लोवर के अलावा घरो के अंदर भी ठंड से बचने के लिये आग को सहारा बनाये रहे। नगर पालिका परिषद द्वारा बनाये गए अस्थाई रैन बसेरे भी सभी को सहारा नही दे या रहे है। राहगीरों व सड़को पर जीवन गुजरने वालो का सहारा सड़को के आस पास जलने वाले अलाव की आग बन रही है। कोहरे व धुंध ने जहां हाइवे की रफ्तार को छीन लिया। कोहरे के कारण वाहन लगभग रेंगते हुए दिखाई दिये। जबकि कोहरे के कारण ट्रेने भी निर्धारित समय से काफी देरी से चल रही है। लोगो को आने जाने के लिये कई कई घण्टे तक अपनी ट्रेनों की प्रतीक्षा करनी पड़ रही है। ठंड को देखते हुए लोग अपनी पूर्व निर्धारित यात्रा के कार्यक्रम को आगे बढ़ाकर अपना आरक्षण तक रद्द करवा रहे है। कडकडाती हुई ठंड़ से सबसे अधिक निराश्रित लोग परेशान है। सर पर छत न होने की वजह से रात बिताने के लिये इधर उधर भटकने को मजबूर होना पड़ रहा है। ठंड की तेजी देखकर ऊपर वाले से निजात दिलाये जाने की गुहार लगा रहे है।

0Shares
Total Page Visits: 383 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *