जालौन में राखी मेल बॉक्स सेवा चालू


जालौन :- यूपी के जालौन में कोरोना काल को देखते हुए डाक विभाग ने भाइयों तक बहनों की राखियां जल्दी पहुंचाने के लिए राखी मेल बॉक्स सेवा चालू की है इस सेवा के जरिए प्रधान डाकघर में अलग से राखी मेल बॉक्स लगाया गया है जिस की निकासी दिन में तीन बार की जा रही है साथ ही विभिन्न जिलों और प्रदेशों से आने वाली राखियों को डाक को बिना विलंब किए तुरंत पोस्टमैन के जरिए संबंधित पते पर भिजवाने के लिए प्राइवेट वाहनों का भी सहारा लिया जा रहा है
रक्षाबंधन का पर्व बहनों के लिए सबसे बड़ा त्यौहार माना जाता है जिसका इंतजार सारी बहनें बड़ी बेसब्री से करती हैं लेकिन कोरोना काल को देखते हुए इस बार बहनों को भाइयों के घर न पहुंच पाने का मलाल भी लग रहा है लेकिन इसकी कमी को दूर करने के लिए डाकघर विभाग ने राखी मेल सेवा शुरू की है जिसके जरिए बहनों की राशियों को अलग व्यवस्था के तहत रक्षाबंधन के दिन तक डाक विभाग पूरी मुस्तैदी के साथ पहुंचाने में लगा हुआ है
उरई मुख्यालय के प्रधान डाकघर में सहायक डाक अधीक्षक के पद पर तैनात राजीव तिवारी ने बताया डाक विभाग जनरल डाक को रजिस्ट्री के लिए वहां पर पहुंचने वाले लोगों को लंबी लंबी कतार में खड़ा होना पड़ता था जिस कारण राखी की डाक विलंब हो जाती थी इस समस्या को देखते हुए रक्षाबंधन के पर्व पर डाक विभाग ने राखी मेल सर्विस की शुरुआत की है इसके जरिए बहन अपने भाइयों को राखी आसानी से भेज सकेंगे इसके लिए प्रधान डाकघर में अलग से पीले रंग का राखी मेल बॉक्स लगाया गया है जिस की निकासी दिन में तीन बार की जा रही है डाक विभाग के द्वारा इस बात का निर्देश है कि राजकीय मेल में किसी भी तरह की कोई कोताही न बरती जाए और समय चेहरा क्यों को बहनों तक पहुंचाया जाए जिससे रक्षाबंधन का पर्व भाई-बहन धूमधाम से मना सके हैं
0Shares

24total visits,1visits today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

कोरोना खौफ के बीच जिले भर में मनाया गया बकरीद का त्योहार

Sat Aug 1 , 2020
जालौन :- यूपी के जालौन में कोरोना काल को देखते हुए डाक विभाग ने भाइयों तक बहनों की राखियां जल्दी पहुंचाने के लिए राखी मेल बॉक्स सेवा चालू की है इस सेवा के जरिए प्रधान डाकघर में अलग से राखी मेल बॉक्स लगाया गया है जिस की निकासी दिन में […]

Breaking News

Hello
May I Help You?
Powered by