जफर इकबाल को मिला एक लाख का साहित्य पुरस्कार

 शायर जफर इकबाल जफर
फतेहपुर। कहते हैं कि साहित्य, अदब, संस्कृति और कला से किसी भी जनपद का नाम पूरी दुनिया में रोशन होता है। इसी रोशन नामवरों में एक उर्दू गजल में महत्वपूर्ण मकाम रखने वाले उस्ताद शायर जफर इकबाल जफर को उत्तर प्रदेश उर्दू एकेडमी की ओर से मजमुई अदबी खिदमात बराए उर्दू गजल यानी संपूर्ण साहित्यिक सेवा के लिए एक लाख रुपए का पुरस्कार दिया गया है। प्रमुख समाजसेवी मोहम्मद अतहर सिद्दीकी ने उन्हें लॉकडाउन के बाद शहर में भी सम्मानित करने का ऐलान किया है।
मालूम हो कि उनके नाम की घोषणा कई महीने पहले शासन द्वारा की गई थी। गुरुवार को खाते में नकद धनराशि के साथ डाक द्वारा प्रशस्ति-पत्र भेजा गया है। हाल ही में उनका नया गजल संग्रह नुमूदे सब्ज प्रकाशित हो चुका है। यह सूचना उत्तर प्रदेश उर्दू अकैडमी की ओर से जारी विगत में दी गई है। इस उपलब्धि के लिए हिंदी एवं उर्दू के रचनाकारों एवं शुभचिन्तकों में गुलाम मुर्तजा राही, मोइनुद्दीन एडवोकेट, शिवशरण सिंह चौहान अंशुमाली, कमर सिद्दीकी, डॉ0 रफीक अहमद, डॉ जमाल अहमद, शिवशरण बंधु हथगामी, डॉ शैलेश गुप्त वीर, आदाब पत्रिका के संपादक डॉक्टर वारिस अंसारी, फजलुर रहमान असलम, शरीफ फतेहपुरी, सैयद अबरार अहमद चीकू, दिलशाद कुरैशी, अख्तर फतेहपुरी, राजू भाई, शिवम हथगामी, शिव सिंह सागर, शम्स हथगामी, जीशान बरकाती, फिल्मी गीतकार वसीक सनम आदि अनेक लोगों ने उन्हें बधाई दी है।

0Shares
Total Page Visits: 324 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *