चुनाव में कांग्रेस को मिली हार की पर्यवेक्षकों ने की समीक्षा…

चुनाव में कांग्रेस को मिली हार की पर्यवेक्षकों ने की समीक्षा
– जिला व शहर अध्यक्ष पद पर कार्यक्रर्ताओ ने ठोंकी दावेदारी
– देर शाम तक अलग-अलग कार्यकर्ताओ को बुलाकर ली जानकारी

फतेहपुर। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी को जनपद में मिली करारी हार की समीक्षा करने के लिये कांग्रेस महासचिव व पूर्वी उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी के निर्देश पहुंचे लोकसभा पर्यवेक्षक बाजीराव खाड़े, विधानसभा में सदन के नेता अजय कुमार लल्लू व दिलीप बाजपेई द्वारा समीक्षा बैठक कर कार्यकर्ताओ से हार का कारण जानने की कोशिश की गयी। वही भंग जिला व शहर कांग्रेस कमेटियों के अध्यक्ष पद के दावेदारों ने अपनी दावेदारी भी प्रस्तुत की।
बुधवार को बुलेट चौराहा सिविल लाइन स्थित जिला कार्यालय में लोकसभा पर्यवेक्षक बाजीराव खाड़े, विधान मंडल दल के नेता अजय कुमार लल्लू व दिलीप बाजपेई द्वारा समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। जिसमें लोकसभा चुनाव में पार्टी को मिली करारी हार की समीक्षा किये जाने के साथ ही कार्यकर्ताओ से जमीनी हकीकत जानने की कोशिश की गयी।

पर्यवेक्षकों द्वारा विधानसभावार एक एक मंडल अध्यक्ष व बूथ अध्यक्षों को अलग अलग बुलाकर उनसे फीडबैक लेने के साथ ही लोकसभा प्रत्याशी रहे राकेश सचान की हार का कारण जानना चाहा। पर्यवेक्षकों द्वारा लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रत्याशी रहे राकेश सचान को मिले वोटो के आंकडो को सामने रखकर एक-एक कार्यकर्ताओ से जमीनी हकीकत जानी। वहीं कार्यकर्ताओ द्वारा भंग चल रही जिला व शहर कार्यकारिणी के अध्यक्ष पद के लिए अपनी अपनी दावेदारी भी प्रस्तुत की गयी। साथ ही कार्यकर्ताओ ने पर्यवेक्षकों के सामने जिला व शहर अध्यक्ष के नामो को भी सुझाया गया। कार्यकर्ताओ के बीच सुबह से ही पर्यवेक्षक के आने को लेकर गहमा गहमी का माहौल रहा। जिसको लेकर कार्यकर्ता सुबह से ही जिला कार्यालय में डटे रहे और पर्यवेक्षक द्वारा अपनी बारी पर बुलाये जाने की प्रतीक्षा करते रहे। पर्यवेक्षकों द्वारा एक एक ब्लाक अध्यक्ष, मण्डल अध्यक्ष समेत बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं को सुनने के साथ ही पार्टी की हार के एक-एक कारण को बारीकी से परखा।

लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस आलाकमान द्वारा जिला व शहर कमेटियों को भंग कर दिया था। समीक्षा के दौरान पर्यवेक्षकों ने कार्यकर्ताओ से दोनों पदों के लिये योग्य उम्मीदवार के नामो को भी जानने की कोशिश की। वहीं जिला व शहर अध्यक्ष बनने की चाह रखने वाले कई कार्यकर्ताओ ने पर्यवेक्षकों से मिलकर अपनी दावेदारी पेश की। इस मौके पर निवर्तमान अध्यक्ष अखिलेश पाण्डेय, निवर्तमान शहर अध्यक्ष मो आरिफ गुड्डा, पूर्व सांसद व लोकसभा प्रत्याशी रहे राकेश सचान, पूर्व विधायक प्रेमदत्त तिवारी, पूर्व विधायक अमरनाथ अनिल, पीसीसी सदस्य विभाकर शास्त्री, प्रिंस रियासत अली, राजू लोधी, पूर्व चेयरमैन अजय अवस्थी, अभिमन्यु सिंह, कलीम उल्ला, वीरेंद्र सिंह चौहान, सूफियान अंसारी, अरुण जायसवाल, सैय्यद शहाब अली, चौधरी मोईन राईन, वीरेन्द्र सिंह चौहान, शिवाकांत तिवारी, हिमांशु, राम सजीवन आदि मौजूद रहे।
नोट- ऊपर वाली खबर का बाक्स

पर्यवेक्षकों के सामने कार्यकर्ताओ की फूली सांसे
फतेहपुर। कांग्रेस शीर्ष नेतृत्व के निर्देश पर लोकसभा चुनाव की समीक्षा करने आये पर्यवेक्षक बाजीराव खाड़े, अजय कुमार लल्लू व दिलीप बाजपेई के सामने लोकसभा चुनाव में पार्टी को मिली हार का कारण गिनाने में तमाम कार्यकर्ताओं की सांसे फूल गयी और वह इधर उधर के आरोप लगाकर बचने की कोशिश करते रहे। प्रत्याशियो को मिले वोटो का आंकड़ा सामने रहने पर पर्यवेक्षकों को बूथ स्तर पर पार्टी की मजबूती समझने में देर नही लगी।

रिपोर्ट से हाईकमान तय करेगा रणनीति
फतेहपुर। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी द्वारा लोकसभा की हार की समीक्षा किये जाने के साथ ही यूपी में होने वाले 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर रणनीति बनाई जानी है। साथ ही प्रदेश में होने वाले उप चुनाव में पार्टी को सीटे जिताने के लिये भी रणनीति तय की जानी है। पर्यवेक्षकों की कमेटी कांग्रेस महासचिव एव यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी को रिपोर्ट सौंपेगी। जिसे आगे आने वाले चुनाव की दिशा तय की जानी है।

0Shares
Total Page Visits: 1437 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *