गोरखपुर में सपा नेता और उसके भाई ने काटा ग़दर , घर में घुसकर महिलाओं के साथ अभद्रता, मारपीट और बलवा करने के आरोप

गोरखपुर। सपा की महानगर इकाई के पूर्व सचिव मोहम्मद कैश, उसके भाई मोहम्मद शैफ, आसिफ, राजकुमार, छोटू और 20 अज्ञात के खिलाफ मारपीट, फिर घर में घुसकर महिलाओं के साथ अभद्रता, मारपीट और बलवा करने के आरोप में पुलिस ने मामला दर्ज किया है। आरोप है कि नौसड़ पेट्रोल पंप पर तेल भराने के दौरान लाइन तोड़ने के विवाद में आरोपितों ने वादी को पहले मौके पर पीटा और बाद में घर में घुसकर गदर काटा। राजघाट पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी है।
जानकारी के मुताबिक मामले की प्राथमिकी सूर्यनाथ सिंह निवासी, ग्राम रघुनाथपुर, थाना हरपुर बुदहट ने दर्ज कराई है। रघुनाथ, शहर के बरफखाना, उदासीपुर मंदिर के पास किराए का मकान लेकर परिवार समेत रहते हैं। इसी मोहल्ले में सपा नेता कैश भी रहते हैं। आरोप है कि पीड़ित, 30 अगस्त की शाम को पेट्रोलपंप पर पेट्रोल भरवाने के लिए लाइन में लगे थे, उनके साथ रिश्तेदार राजसिंह भी थे। इसी दौरान कैश अपने भाई शैफ के साथ आए और बिना लाइन के ही तेल भरवाने की जिद करने लगे। राज सिंह और लाइन में लगे अन्य लोगों ने विरोध किया तो सैफ ने फोन कर अपने अन्य साथियों को बुला लिए और मारपीट कर घायल कर दिए। इसकी शिकायत पुलिस से की गई। पुलिस कुछ करती, इससे पहले 31 अगस्त को राजसिंह को तलाशते हुए कैश ने अपने साथियों के साथ उनके घर पर धावा बोल दिया। एक दर्जन से अधिक लोग घर के अंदर घुस आए और महिलाओं से अभद्रता करने के साथ ही मारपीट की। पुलिस केस दर्ज कर जांच कर रही है। सीओ कोतवाली बीपी सिंह ने बताया कि तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर जांच की जा रही है, जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी। इस बारे में मो. कैश से बात करने की कोशिश की गई, लेकिन संपर्क नहीं हो सका। जब भी उनका पक्ष आएगा, उसे प्रकाशित किया जाएगा।
विवादों से कैश का पुराना नाता
समाजवादी पार्टी के पदाधिकारी रहे कैश विवादित भूमि को कब्जा करने, मारपीट जैसे मामलों में आरोपी बनाया गया था। उस पर केस भी दर्ज किया गया था। एक मामले में पुलिस ने उन्हें जेल भी भेजा था।
भू-माफिया में भी है नाम दर्ज
भाजपा सरकार बनने के बाद पूरे प्रदेश में भू माफियाओं की सूची तैयार की जानी थी। जिला प्रशासन ने भी एंटी भू-माफिया अभियान के तहत जिले में भी भू-माफियाओं की सूची बनाई थी। इनमें 13 लोगों पर सरकारी, गरीब की जमीनें कब्जा करने को लेकर कई बार मुकदमे दर्ज किए गए हों, आधार बनाकर भू-माफिया के तौर पर जोड़ा गया था। इनमें मो. कैश का नाम सबसे ऊपर था। इसके अलावा सूत्रों की मानें तो इस पर कई मुकदमे कोतवाली और राजघाट थाना में दर्ज हैं!
रिपोर्ट – ओम प्रकाश शर्मा – गोरखपुर
0Shares
Total Page Visits: 1340 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *