गांधी जयन्ती पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों की रूपरेखा तय

प्रातः आठ बजे कार्यालयों, विद्यालयों व अन्य संस्थाओं में होगा माल्यार्पण
फतेहपुर। आगामी दो अक्टूबर गांधी जयन्ती के अवसर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों की जिलाधिकारी संजीव सिंह ने रूपरेखा तय करते हुए सभी कार्यक्रमों को युद्ध स्तर पर मनाये जाने की अपील की है। जारी किये गये कार्यक्रमों की रूपरेखा में प्रातः 08 बजे समस्त कार्यालयों के साथ-साथ विद्यालय व अन्य संस्थाओं में महात्मा गांधी के चित्र पर माल्यार्पण किया जाएगा। उनके जीवन संघर्ष, उनकी देश सेवा एवं जीवन के मूल्यों पर प्रकाश डाला जाएगा। विशेष रूप से निर्बल के कल्याण के सम्बन्ध में अन्त्योदय की उनकी अवधारणा के सम्बन्ध में विचारों का संक्षेप में परिचय दिया जाएगा। उपजिलाधिकारी खागा, बिन्दकी व सदर द्वारा अपने-अपने तहसील मुख्यालय में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को आमंत्रित कर सम्मानित किया जाएगा। प्रातः 09 बजे स्कूल, कॉलेजों में पौधरोपण एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन होगा। गांधी जी के जीवनवृत्त व विद्यार्थियों की वाद-विवाद प्रतियोगिता, गोष्ठी आयोजित की जायेगी। जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी उक्त कार्यक्रम को संपादित कराएंगे। प्रातः 09.30 बजे स्टेडियम मैदान में बालकों की 05 किमी व बालिकाओ की 02.5 किमी वाकरेस (दौड़) आयोजित की जाएगी। जिसका संयोजक जिला क्रीड़ा अधिकारी व युवा कल्याण अधिकारी को बनाया गया है। जिला विद्यालय निरीक्षक, बेसिक शिक्षा अधिकारी दौड़ में भाग लेने वाले बालक/बालिकाओ को प्रोत्साहित करेंगे। प्रेक्षागृह में गांधी जी के जीवन से संबंधित विचारों की गोष्ठी, मधनिषेध पर चर्चा एवं प्रतियोगिता पुरस्कार वितरण किया जायेगा। प्रातः 10 बजे जिला कारागार में कैदियों के बीच गांधी जी के जीवन परिचय व उनके विचार धाराओं के सम्बंध में गोष्ठी का आयोजन अधीक्षक, जिला कारागार द्वारा किया जाएगा। प्रातः 10.30 बजे ग्राम सेवा संस्थान में चरखा कताई-बुनाई का कार्यक्रम ग्रामोद्योग द्वारा किया जाएगा। प्रातः 11.30 बजे मलिन बस्ती मोहल्लों में साफ सफाई अभियान चलाया जाएगा। स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया जाएगा। इसी प्रकार तहसील मुख्यालयों में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन उपजिलाधिकारी, मुख्य चिकित्साधिकारी के सहयोग से सम्पन्न कराना सुनिश्चित करेंगे। अपराह्न 03 बजे प्रेक्षागृह में नेहरू युवा केन्द्र, डीआईओएस, बीएसए, प्रधानाचार्य जीआईसी, जीजीआईसी के सहयोग से सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया जायेगा। इसी प्रकार सभी तहसील मुख्यालयों में सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया जाएगा।

0Shares
Total Page Visits: - Today Page Visits:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *