कोषागार कर्मियों ने काली पट्टी बांध शुरू किया विरोध प्रदर्शन

काली पट्टी बांधकर विरोध दर्ज कराते कोषागार कर्मी
फतेहपुर। प्रदेश सरकार द्वारा कोषागारों में लेखाकारों एवं सहायक लेखाकारों के 80ः20 के अनुपात को एक झटके में समाप्त कर दिये जाने के विरोध में संगठन के प्रान्तीय आहवान पर जिले के कोषागार कर्मियों ने बुधवार को काला फीता बांधकर सरकार के निर्णय के खिलाफ विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। यह प्रदर्शन एक सप्ताह तक जारी रहेगा। चार सूत्रीय मांगों की बाबत संगठन नेताओं ने कहा कि जब तक यह मांगे पूरी नहीं होती तब तक आन्दोलन जारी रहेगा। आवश्यकता पड़ने पर इसे और धार दी जायेगी।
उपसंघ के अध्यक्ष लियाकत शमीम व महामंत्री सुनील कुमार ने बताया कि शासन द्वारा कोषागारों में लेखाकारों एवं सहायक लेखाकारों के 80ः20 के अनुपात को एक झटके में समाप्त कर दिया गया है। प्रशासन के इस निर्णय से समस्त कोषागार कर्मचारी 1 जनवरी 1986 की स्थिति में पदोन्नत हो जायेगे। सरकार के इस मनमाने निर्णय से कोषागार कर्मचारियों में आक्रोश है। प्रान्तीय संगठन ने मनमाने निर्णय के खिलाफ आर-पार की लड़ाई का निर्णय लिया है। जिसके तहत बुधवार से कोषागार के सभी कर्मचारियों ने बांहो में काला फीता बांधकर निर्णय के विरूद्ध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। अध्यक्ष लियाकत शमीम व महामंत्री सुशील कुमार ने बताया कि आन्दोलन को राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष अशोक श्रीवास्तव व महामंत्री का समर्थन हासिल है। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि चार सूत्रीय मांगों में कोषागार लेखा संवर्ग को सचिवालय के लेखा संवर्ग की पूर्व से प्राप्त समानता व समकक्षता के अनुसार वेतन अद्यतन पुनरीक्षित किया जाये और पदों का सचिवालय के समान पुर्नवर्गीकरण किया जाये। कोषागार लेखा संवर्ग की नियमावली बनायी जाये। पदोन्नति सम्बन्धित सभी आदेशों को निरस्त किया जाये। विभिन्न पदों पर एक वर्ष से रूकी हुयी पदोन्नतियों तथा एसीपी प्रदान किये जाने की मांगे शामिल हैं। इस मौके पर भव्य कक्कड़, गोपालचन्द्र, मो0 आसिफ खान, जुबैर अहमद, सर्वेश कुमार, वीरेन्द्र कुमार सिन्हा, रामराज मौर्य, अनूप कुमार, विमलेश कुमार आदि शामिल रहे।

0Shares
Total Page Visits: 2030 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *