केन्द्र व्यवस्थापकों की बैठक को सम्बोधित करते डीआईओएस महेन्द्र प्रताप सिंह

फतेहपुर। माध्यमिक शिक्षा परिषद प्रयागराज की 18 फरवरी से शुरू होने वाली परीक्षाओं के मद्देनजर जिला विद्यालय निरीक्षक ने सभी केन्द्र व्यवस्थाओं को कर्तव्यनिष्ठा का पाठ पढ़ाने के साथ ही व्यवस्थाओं को रूबरू कराये जाने के लिए बैठक आयोजित की। बैठक के दौरान उन्होने केन्द्र व्यवस्थाओं से कहा कि परीक्षा को निष्ठा एवं ईमानदारी के साथ नकलविहीन सम्पन्न करायें। इस कार्य में लापरवाही नहीं होनी चाहिए। सभी केन्द्र व्यवस्थापक समय से पहुंचकर परीक्षाओं को शुरू करायें और परीक्षा के समय सभी कक्ष निरीक्षक अपना परिचय पत्र व आधार कार्ड अवश्य रखें। स्काउट भवन व राजकीय इण्टर कालेज को परीक्षा कन्ट्रोल रूम बनाया गया है।
शहर महर्षि विद्या मंदिर इण्टर कालेज में केन्द्र व्यवस्थापकों की बैठक जिला विद्यालय निरीक्षक महेन्द्र प्रताप सिंह की अध्यक्षता में आयोजित हुयी। बैठक के दौरान परीक्षा केन्द्रों के सभी केन्द्र व्यवस्थापक मौजूद रहे। बैठक को सम्बोधित करते हुए डीआईओएस ने कहा कि केन्द्र व्यवस्थापक/वाह्य अतिरिक्त केन्द्र व्यवस्थापक के अधिकार समान होंगे। प्रत्येक आवश्यक पत्रजातों पर केन्द्र व्यवस्थापक के साथ-साथ अतिरिक्त केन्द्र व्यवस्थापक भी हस्ताक्षर करेंगे। दोनों लोग ही मात्र मोबाइल ले जा सकेंगे। परीक्षा 2020 के व्हाट्सएप ग्रुप से तत्काल जुड़ जायें। सभी व्यवस्थापक चौबीस घण्टे अपना मोबाइल आन रखेगे। नौ फरवरी को प्रत्येक केन्द्र के केन्द्र व्यवस्थापक/अतिरिक्त केन्द्र व्यवस्थापक अपने केन्द्रों पर उपस्थित रहकर प्रश्न पत्र प्राप्त करेंगे। प्रत्येक केन्द्र पर पचास प्रतिशत आंतरिक एवं पचास प्रतिशत वाह्य कक्ष निरीक्षकों की ड्यूटी रहेगी। पन्द्रह फरवरी तक सभी कक्ष निरीक्षक अपने निर्धारित केन्द्र में पूर्वान्ह ग्यारह बजे तक कार्यभार ग्रहण कर लें। राजकीय एवं सवित्त विद्यालयों के प्रत्येक शिक्षकों की ड्यूटी प्रतिदिन लगाई जायेगी। परीक्षा के दौरान कक्ष निरीक्षक अपने पास परिचय पत्र व आधार कार्ड अनिवार्य रूप से रखेंगे। डीआईओएस ने बताया कि सात फरवरी को तहसील खागा, दस को बिन्दकी व ग्यारह फरवरी को सदर तहसील में सादी उत्तर पुस्तिकाओं का वितरण राजकीय इण्टर कालेज से किया जायेगा। राजकीय इण्टर कालेज को मुख्य संकलन केन्द्र व स्काउट भवन एवं राजकीय इण्टर कालेज को परीक्षा कन्ट्रोल रूम बनाया गया है। उन्होने बताया कि 200 मीटर की परिधि पर वाह्य व्यक्तियों का प्रवेश निषेध होगा। सीसीटीवी कैमरा चालू रहेगा। पेयजल एवं स्वच्छ शौचालय की व्यवस्था सुनिश्चित करें। उन्होने बोर्ड के अन्य निर्देशों से भी केन्द्र व्यवस्थापकों व वाह्य केन्द्र व्यवस्थापकों को जानकारी दी। डीआईओएस ने कहा कि परीक्षा को शांतिपूर्ण माहौल में नकलविहीन सम्पन्न कराना सभी केन्द्र व्यवस्थापकों का कर्तव्य है। इस कार्य में हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं की जायेगी। बैठक के दौरान सभी केन्द्र व्यवस्थापक मौजूद रहे।

0Shares
Total Page Visits: 763 - Today Page Visits: 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *