कबरा गांव को हाट स्पाट चिन्हित कर किया सील

डीएम-एसपी ने गांव का निरीक्षण कर देखी व्यवस्थाएं
फायर टेंडर की मदद से कराया सेनेटाइजेशन
 कबरा गांव का निरीक्षण करते डीएम-एसपी
फतेहपुर। कोविड-19 का कहर जहां अब तक पूरे देश के साथ-साथ प्रदेश के कई जनपदों में था। वहीं अब इसका कहर फतेहपुर जनपद में भी देखने को मिल रहा है। एक ही दिन में दो कोरोना पाजिटिव मरीज मिलने से पूरे जनपद में दहशत का माहौल व्याप्त है। वहीं जिला एवं पुलिस प्रशासन की नींद भी उड़ गयी है। शुक्रवार को जाफरगंज थाना क्षेत्र के नया पुरवा गांव में कोरोना पाजिटिव मिलने पर डीएम-एसपी ने इस गांव को सील करा दिया था वहीं देर रात धाता ब्लाक के कबरा गांव में कोरोना पाजिटिव मरीज मिलने की पुष्टि होने के बाद शनिवार को डीएम-एसपी ने गांव पहुंचकर हास्ट स्पाट चिन्हित करते हुए गांव को सील करा दिया। फायर टेंडर की मदद से गांव में सेनेटाइजेशन कराते हुए आने-जाने पर पूर्णतः रोक लगा दी है।
बताते चलें कि कोरोना वायरस का कहर पूरे विश्व को अपनी चपेट में लिये हुए है। कोरोना के कहर से प्रतिदिन लोग अपनी जान गवां रहे हैं। इसका कहर भारत देश में भी फैलता जा रहा है। प्रदेश के कई जनपदों में इसके मरीज मिले हैं। अभी तक फतेहपुर जनपद ग्रीन जोन में था। जिससे लोगों में राहत थी। जिला एवं पुलिस प्रशासन भी लगातार सख्ती बरत रहा था। लेकिन बाहर से आने वाले मजदूरों व अन्य लोगों के चलते सुरक्षा में सेंध लग गयी है। शुक्रवार की सुबह जाफरगंज थाना क्षेत्र के नया पुरवा गांव में कोरोना पाजिटिव मरीज मिलने की पुष्टि होने के बाद डीएम-एसपी ने इस गांव को हास्ट स्पाट घोषित करते हुए सील कर दिया था। कोरोना मरीज मिलने के बाद पूरे जनपद में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया है। डीएम द्वारा लगातार लेगों से सतर्कता बरतने की अपील की जा रही हैं कोरोना मरीज मिलने अभी बारह घण्टे भी नहीं बीते थे कि शाम लगभग साढ़े नौ बजे जिलाधिकारी संजीव सिंह ने दूसरे कोरोना पाजिटिव मरीज की पुष्टि कर दी। यह मरीज धाता ब्लाक के कबरा गांव का रहने वाला है। यह युवक छब्बीस मार्च को दिल्ली से कानपुर आया था। यह कानपुर में रूक कर ही काम करने लगा और चार मई को अपने गांव पहुंचा। युवक को प्राथमिक विद्यालय मटिहा के क्वारंटीन सेन्टर में रूका था। जिसके बाद इसका सेम्पल पांच मई को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र धाता पहुंचा। सीएचसी से कुछ लक्षणों के आधार पर 108 एम्बुलेन्स से क्वारंटीन सेन्टर नेवलापुर भेजा गया। कोविड-19 का सेम्पल प्रयागराज भेजा गया। जिसमें मुख्य चिकित्साधिकारी ने आठ मई को इसकी रिपोर्ट पाजिटिव घोषित की। जिसके बाद जिलाधिकारी संजीव सिंह ने इसकी आधिकरिक घोषणा करते हुए तत्काल गांव को हाट स्पाट घोषित कर दिया। डीएम-एसपी समेत उप जिलाधिकारी खागा विजय शंकर तिवारी, क्षेत्राधिकारी अंशुमान मिश्रा सहित अन्य तहसील स्तरीय अधिकारी गांव पहुंचे और डीएम-एसपी ने अपनी मौजूदगी में पूरे गांव को सील करा दिया। फायर टेंडर की मदद से सेनेटाइजेशन कराया गया। ग्राम के अंदर मेडिकल टीम, सेनेटाइजेशन टीम एवं आवश्यक वस्तुओं की डिलीवरी के अतिरिक्त अन्य गतिविधियां प्रतिबंधित की गई हैं। जिलाधिकारी ने जनपद के लोगों का आहवान किया कि अफवाहों पर ध्यान न दें। सतर्कता बनाये रखें। आस-पास बाहर से आने वाले लोगों की जानकारी जिला एवं पुलिस प्रशासन को अवश्य दें। जिससे इस कोरोना वायरस को फैलने से रोका जा सके। उन्होने कहा कि सुरक्षा ही बचाव है। घर पर रहें सुरक्षित रहें।

0Shares
Total Page Visits: - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *