इस बार साढ़े चौदह घण्टे का है रोजा

सुन्नी हजरात- दूसरे रोजे का अफ्तार 6 बजकर 39 मिनट तथा तीसरे रोजे की सहरी 4 बजकर 5 मिनट पर करें।
शिया हजरात- दूसरे रोजे का अफ्तार 6 बजकर 49 मिनट तथा तीसरे रोजे की सहरी 3 बजकर 55 मिनट पर करें।

फतेहपुर। पवित्र रमजान का महीना शनिवार से शुरू हो गया है। मुस्लिम समुदाय ने छोटे बच्चों (जिन पर फर्ज नहीं) के अलावा अधिकांश महिलाएं, पुरूष, नौजवान रोजा रख रहे हैं। इस वर्ष रोजे की अवधि साढ़े चौदह घण्टे की है। उधर कोरोना की पाबंदियों ने बरकत, रहमत व मगफिरत वाले महीने की रौनक पर विराम लगा दिया है।
कोरोना वायरस की महामारी को लेकर घरों से निकलने पर लगाई गयी पाबंदी के चलते माहे रमजान के इस मुबारक महीने में रौनक गायब हो गयी है। नमाज व तरावीह भी मस्जिदों में न होकर लोग घरों पर ही पढ़ने को मजबूर हैं। जबकि इससे पहले सहरी से लेकर दिन भर चहल-कदमी रहती थी। लाला बाजार की मार्केट भी खरीददारों के आवागमन से गुलजार रहती थी। जहां पर रोजा अफ्तार व सहरी में इस्तेमाल होने वाली सामग्री बिस्कुट, सेंवई, सूतफेनी, खजूर व फलों की खरीददारी के लिए लोगों की भीड़ उमड़ती थी लेकिन महामारी के रूप में कोरोना ने सारी गतिविधियों पर पूर्णविराम लगा दिया है। बताते चलें कि सहरी के बाद नमाज से फारिग होने के बाद युवा, बुजुर्ग व अन्य लोग टहलने के लिए निकल पड़ते थे लेकिन इस बार सब ठहरा हुआ है।

 

0Shares
Total Page Visits: 345 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *