आज़मगढ़ डीएम ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कोल्हुखोर एल-1 श्रेणी के अस्पताल का निरीक्षण किया, आप क्या जानते हैं , एल-1 एल -2 और एल-३ क्या है ?

आजमगढ़ 11 अप्रैल– कोविड-19 महामारी के रोकथाम व बचाव हेतु जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रसाद सिंह द्वारा जनपद में सीएचसी कोल्हुखोर, जहानागंज व 100 शैय्या बेड अस्पताल तरवां को एल-1 घोषित किया गया है। जिलाधिकारी द्वारा उक्त एल-1 अस्पताल का निरीक्षण किया गया।
जिलाधिकारी ने बताया कि कोरोना पाजीटिव मरीजों को रखने के लिए अस्पताल को एल-1, एल-2 व एल-3 की श्रेणी में रखा गया है। उन्होने बताया कि एल-1 श्रेणी के अस्पतालों में ऐसे कोरोना मरीजों को रखा जायेगा, जो कोरोना के पाजीटिव मरीज हैं एवं उसमें कोई लक्षण प्रकट नही हो रहा हो, एल-2 श्रेणी के अस्पतालों में ऐसे मरीजों को रखा जायेगा, जो कोरोना के पाजीटिव मरीज हैं एवं उसमें लक्षण भी प्रतीत हो रहे हैं तथा एल-3 श्रेणी के अस्पतालों में ऐसे कोरोना के मरीजों को रखा जायेगा, जिनकी हालत गम्भीर है, एल-3 श्रेणी के अस्पतालों को प्रदेश स्तर पर चिन्हित किया गया है।
जिलाधिकारी द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कोल्हुखोर एल-1 श्रेणी के अस्पताल का निरीक्षण किया गया, निरीक्षण के दौरान अस्पताल में की गयी तैयारियों का अवलोकन किया गया। इस अस्पताल में 30 बेड बनाये गये हैं। इस अस्पताल में जिलाधिकारी ने 04 बायो टाॅयलेट लगाने के निर्देश दिये।
इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने 100 शैय्या बेड अस्पताल तरवां एल-1 श्रेणी के अस्पताल का निरीक्षण किया गया। जिलाधिकारी ने इस अस्पताल में एक सप्ताह अन्दर मरीजों के लिए 100 बेड लगाने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि 03 दिन के अन्दर मरीजों के लिए 50 बेड तैयार करें। निरीक्षण के दौरान एमओआईसी के अवकाश पर होने पर जिलाधिकारी ने एमओआईसी का अवकाश निरस्त कर एमओआईसी को ड्यूटी पर बुलाने हेतु निर्देश दिये।
जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि उक्त अस्पताल में शौचालय, मरीजों को रूकने और प्रवेश व निकासी की व्यवस्था कराना सुनिश्चित करें।
0Shares
Total Page Visits: 568 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *