आजमगढ़ में फिल्म आर्टिकल -15 का विरोध

आजमगढ़। फिल्म आर्टिकल-15 के विरोध में अखिल भारत वर्षीय ब्राह्मण महासभा के प्रतिनिधिमंडल ने जमकर अपना विरोध प्रदर्शन किया और कलेक्ट्रेट पर नारेबाजी करते हुए मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन जिलाधिकारी (एडीएम प्रशासन) को सौंपा। जिसमे फिल्म के निर्देशक अनुभव सिन्हा पर मुकदमा दर्ज करते हुए फिल्म पर प्रतिबंध लगाने एवं प्रदेश में फिल्म के प्रसारण पर रोक लगाने की मांग किया।
महासभा के प्रदेश संरक्षक सुभाष चन्द्र तिवारी कुन्दन ने बताया कि आटिंकल-15 नामक फिल्म में ब्राह्मणों को क्रूर, अत्याचारी, बलात्कारी, पाखंडी और खलनायक के रूप में प्रदर्शित किया गया है, जबकि ब्राह्मणों ने सदैव समाज को जोड़ने और सुसंस्कारित करने का कार्य किया है। फिल्म निर्देशक अनुभव सिन्हा ने सत्य सनातन वैदिक हिन्दू धर्म को नीचा दिखाने के उद्देश्य से ब्राह्मण समाज के प्रति दुष्प्रचार कर पूरे समाज को अपमानित करने का काम किया है। जो सामाजिक ताने-बाने को ठेस पहुंचाने वाला है।
युवा प्रकोष्ठ के मंडल अध्यक्ष पंडित सौरभ उपाध्याय ने बताया कि कोई भी निर्देशक फिल्म बनाता है तो उसका लाभ समाज को मिलता है लेकिन सिन्हा जैसे निर्देशक समाज को बांटने और तोड़ने का काम कर रहे है। समाज को ब्राह्मण मजबूत और अखंडता बनाने के लिए काम करता है। लेकिन फिल्म में पूरे ब्राह्मण समाज को बदनाम किया जाना संगठन कभी बर्दाश्त नहीं करेगा अगर जल्द ही मुख्यमंत्री द्वारा उचित कदम नहीं उठाया गया तो ब्राह्मण समाज पूरी रणनीति बनाकर मुखर होगा जिसकी समस्त जिम्मेदारी शासन-प्रशासन की होगी।
इस अवसर पर पंडित रामप्रकाश तिवारी एड, बृजेश दुबे, अरविन्द पांडेय, हरिवंश मिश्रा, गोविन्द दुबे, वेदप्रकाश पांडेय, अरुण पाठक, नन्दिनी मिश्र, अभिषेक उपाध्याय, जितेन्द्र पांडेय, सतीश पांडेय, विवेक पांडेय, अखिलानन्द तिवारी, लालकृष्ण दुबे, हलधर दुबे सहित दर्जनों ब्राहमण समाज के लोग उपस्थित थे
0Shares
Total Page Visits: 2873 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *