आजमगढ़ : पत्रकार के खिलाफ मुक़दमे में जनपद के पत्रकारों में रोष व्याप्त…..

आजमगढ। मिड-डे मिल में बच्चों को नमक रोटी परोसे जाने के मामले में मिर्जापुर के जिलाधिकारी द्वारा पत्रकार पवन जायसवाल के ऊपर दर्ज कराय गये मुकदमें के खिलाफ जनपद के पत्रकारों में भी रोष व्याप्त है। गुरूवार को पत्रकारों ने जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष सामूहिक रूप से धरना देते हुए घटना की निन्दा किया और मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर जिलाधिकारी मिर्जापुर को तत्काल हटाये जाने की मांग किया।
पत्रकारों ने कहा कि मिर्जापुर के एक प्राथमिक विद्यालय में बच्चों को गुणवत्तायुक्त भोजन के स्थान पर मिड-डे मिल में नमक रोटी खिलायी जा रही थी। जिसे स्थानीय  पत्रकार पवन जायसवाल ने प्रमुखता से प्रकाशित कराया और चैनल चलाया। मिर्जापुर के जिलाधिकारी  मिड-डे मिल में बच्चों को नमक रोटी परोसने वालो के खिलाफ कार्यवाही न करते हुए उल्टे उक्त पत्रकार पर ही मुकदमा दर्ज करा दिया। जिलाधिकारी की यह कार्यवाही स्वतंत्र पत्रकारिता पर जहां कुठाराघात है वही उनका यह कृत्य जनता को सही और निष्पक्ष खबरों से दूर रखने की साजिश भी है। पत्रकार पर दर्ज एफआईआर से देश भर के पत्रकारों में आक्रोश व्याप्त है। जिसकी जितनी भी निन्दा की जाये कम है। पत्रकारों ने मुख्यमंत्री को भेजे गये ज्ञापन में मांग किया कि पत्रकार पवन जायसवाल पर दर्ज मुकदमे को बगैर शर्त वापस लिया जाये। जिसक निष्पक्ष जांच अन्य जनपद के उच्चाधिकारी से करायी जाये। मिर्जापुर के जिलाधिकारी पर कार्यवाही करते हुए तत्काल वहां से उनका स्थानांतरण किया जाये।

0Shares
Total Page Visits: 640 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *